इस रक्षाबंधन पर भाई को राखी बांधते समय जरूर रखें इन 5 बातों का ध्यान,

श्रावण मास की पूर्णिमा को रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाता है। इस साल यह त्योहार 3 अगस्त को पड़ रहा है। इस दिन बहनें सज-संवरकर मेहंदी रचे हाथों से भाइयों को तिलक कर दाहिनी कलाई पर राखी बांधती हैं। ज्योतिशास्त्र के मुताबिक, भाई की दाहिनी कलाई पर राखी बांधना ही शुभ होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि भाई को राखी बांधते समय कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है।
ज्योतिषशास्त्र के अनुसार, भाई को राखी पर काले रंग का धागा या राखी, टूटी या खंडित राखी, प्लास्टिक की राखी और अशुभ चिन्हों वाली राखी नहीं बांधनी चाहिए। माना जाता है कि अगर कोई बहन इस तरह की राखी अपने भाई को बांधती है, तो भारी नुकसान का सामना भी करना पड़ सकता है। 
राखी बांधते समय इन बातों का रखें ध्यान-
1. ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, राखी बांधते समय भाई को पूर्व दिशा में बैठना शुभ माना जाता है।
2. कहते हैं कि तिलक लगाते समय बहन का मुंह पश्चिम दिशा में होना शुभ होता है।
3. भाई को तिलक और राखी बांधते समय बहनों को ‘येन बद्धो बलिराजा, दानवेन्द्रो महाबलः तेनत्वाम प्रति बद्धनामि रक्षे, माचल-माचलः’ मंत्र का जापकर शुभ माना गया है। कहते हैं कि इससे विशेष फल की प्राप्ति होती है।
4.  राखी को बांधने के बाद भाई की आरती उतारना और मीठा खिलाना उत्तम माना गया है।
5. राखी बांधते समय भाई को पीढ़े पर ही बैठाना चाहिए। माना जाता है कि ऐसा करना भाई-बहनों के लिए लाभकारी होता है.

Comments are closed.