ऐसा भी क्या हुआ था देवानंद के साथ जिसके बाद उन्होंने कभी काला सूट नहीं पहना

देवानंद हिंदी सिनेमा इंडस्ट्री के नायाब अभिनेताओं में से एक माने जाते हैं। पंजाब के गुरदासपुर में एक मध्यमवर्गीय परिवार में देवानंद का जन्म 26 सितंबर को हुआ। देवानंद को एक्टिंग का शौक बचपन से ही था, मिलिट्री सेंसर ऑफिस में नौकरी करने के बाद उन्होंने एक्टिंग के लिए अपनी नौकरी तक छोड़ दी। उनकी अदायगी और स्मार्टनेस की लाखों लड़कियां दीवानी थी और उन्हें बी टाऊन का सबसे हैंडसम अभिनेता माना जाता था।

देवानंद को उनकी पहली फिल्म से ही दर्शकों ने पसंद करना शुरू कर दिया था। देवानंद अपने दौर में रूमानियत और फैशन के बड़े आइकॉन हुआ करते थे। उनके फिल्मी करियर के वैसे तो कई किस्से है, लेकिन सबसे ज्यादा मशहूर उनके काले कोट का वाकिया सुनाया जाता है।

देवानंद हमेशा से ही वाइट शर्ट और ब्लैक कोट-पैंट पहनते थे और उन्होंने यह ड्रेस कोड इतना ज्यादा फेमस कर दिया था कि हर कोई इसे कॉपी करने लगा। ऐसे में हर तरफ शहर में काले कोट में लोग नजर आने लगे और देवानंद को हद से ज्यादा फॉलो करने।

देवानंद को काले कोट में देखकर लड़कियों का परवान चढ जाता और वह कुछ भी करने को गुजर जाती। जब ऐसे मामले हद से ज्यादा बढ़ने लगे तब पब्लिक प्लेस पर देवानंद के लिए कोट पहनने पर बैन लगा दिया गया।

Comments are closed.