कब्र की मिट्टी हाथ में लिए सोच रहा हूँ कि लोग मरते हैं तो ”गुरुर” कहा जाता है??

सुबह सुबह Whatsapp पर

इतने उच्च विचारों वाले मॅसेज आ जाते है कि

लगता है सारा जग सुधर गया और

बस मैं ही बिगड़ा हुआ हूँ।

—————-

अन्ना हज़ारे:सोच रहा हूँ कि शादी कर लूँ

दिग्गी ने भी कर ली

बाबा रामदेव:करले यार अन्ना

अन्ना:कुँवारी से करू या फिर विधवा से?

रामदेव:कुँवारी से करले विधवा अपने आप हो जायेगी

अन्ना:हरामखोर काणे।

—————-

Comments are closed.