खुद से गलती हो गई हो तो माफ़ी मांग लीजिये और यदि दूसरों से गलती हो गई हो तो माफ़ कर दीजिये

सॉरी एक छोटा सा शब्द है पर बड़े बड़े झगडे सुलझ जाते हैं

सॉरी एक छोटा सा शब्द है पर बड़े बड़े झगडे सुलझ जाते हैं। हम दूसरों की गलती पर या अपनी गलती पर अपने मन को अशांत कर लेते हैं पर इस इस छोटे से शब्द सॉरी का यूज़ नहीं करते। खुद से गलती हो गई हो तो माफ़ी मांग लीजिये और यदि दूसरों से गलती हो गई हो तो माफ़ कर दीजिये। भला जब सॉरी कहने से प्रेम के पुल बन सकते हैं तो लम्बे समय तक द्वेष की दीवारों से सर टकराते से क्या होगा।

फालतू वाद विवाद में मत पड़िये। किसी काम में तभी दखल दीजिये जब आपसे पूछा या कहा जाये। आपके द्वारा अनावश्यक टोका टोकि या टिप्पड़ी आपके विवादों को बढाती है। आपके दिमाग को बेबजह अशांत करते हैं। इसलिए मन शांत करने के लिए NO TENSION फार्मूले को अपनाएं।

लाइफ में कई बार ऐसे पल आते हैं जब हमे समझौता करना पड़ता है। इसलिए समझौतावादी नजरिया अपनाइये। जैसा माहौल मिले उसमे ढल जाइये। यदि कुछ बदल सकते हो तो बदल दीजिये नहीं तो समझौता करने की आदत डालिये। यदि आप ऐसा नहीं करते तो आप फालतू में अपने मन को अशांत कर लेते हैं। इस बात पर किशोर कुमार द्वारा गया गया फिल्म समझौता का एक गाना हमेशा याद रखिए “समझौता ग़मों से कर लो, ज़िन्दगी में गम ही मिलते हैं। पतझड़ आते ही रहते हैं कि मधुवन फिर भी खिलते हैं।”

दोस्तों अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आए तो लाइक और कमेंट करना ना भूलें क्योंकि हम जिंदगी के बारे में इसी तरह के सकारात्मक विचार लाते रहेंगे। दोस्तों इसी तरह की पोस्ट आगे भी पाने के लिए हमें फॉलो जरूर करें धन्यवाद।

Comments are closed.