ख्वाहिशों को जेब में रखकर निकला कीजिये, जनाब; खर्चा बहुत होता है, मंजिलों को पाने में!

कॉलेज वाली मसालेदार होती है

पड़ोस वाली:कड़क होती है

ऑफिस वाली:मीठी होती है

घर वाली:फीकी होती है

होटल वाली:मस्त होती है

5 स्टार वाली:महंगी होती है

लेकिन एक बात है यार चाय आखिर चाय होती है

पता नहीं क्या-क्या सोचते रहते हो

मेसेज देखो किस संस्कारी ने भेजा है।

————–

नवाज शरीफ:मोदी जी हमें कश्मीर चाहिए

मोदी जी:चल शेयर इट चालु कर और

जब रिसीव किया तो ये लिखकर आया आप के पास जगह नही है

कृपया लाहौर, बलोचिस्तान, और रावलपिंडी डिलीट कीजिये

नवाज शरीफ बेहोश।

————-

Comments are closed.