जब खुशी का एक दरवाजा बंद होता है तो दूसरा खुलता है

जब खुशी का एक दरवाजा बंद होता है तो दूसरा खुलता है

शांत होने के बाद ही पता चलता कि कितना नुकसान हुआ। अतः हमेशा अच्छी सोच,अच्छे विचार के साथ सकारात्मक रहें, खुश रहें, प्रसन्न रहें, मुस्कुराते रहें। जब वास्तविकता आपको अपने सपनों से बेहरतर लगने लगे तब आप कामियाब होने लगते हैं। जब वक्त आपके साथ हो तो कभी गुरुर मत करना,जब वक्त आपके विपरीत हो तो सब्र जरूर करना।

पहले खुद से प्यार और सम्मान करना सीखो, तब आप दूसरों से इसकी उम्मीद करो। जब खुशी का एक दरवाजा बंद होता है, तो दूसरा खुलता है; लेकिन हम अक्सर बंद दरवाजे पर इतने लंबे समय तक देखते हैं कि हमें वह नहीं दिखता जो हमारे लिए खोला गया है।यदि आप आज कुछ करने की ठाने तो उसे करें, क्योंकि अब से बीस साल बाद आप उन चीजों से ज्यादा निराश होंगे जो आपने नहीं की थीं।

जब आपके मन न होने पर भी आप काम करते हैं तो आपको सफलता मिलना निश्चित है।कुछ उलझनों के हल, वक्त पे छोड़ दिजीए ज़बाब देर से मिलेंगे, लेकिन बेहतरीन होंगे। महान दिमाग विचारों की चर्चा करता है, औसत दिमाग घटनाओं के चर्चा करता है और छोटा दिमाग लोगों की चर्चा करता है।हमेशा अपनी क्षमताओं को बढ़ाते रहो। क्योंकि जो उपलब्धि आज हमने पाई है उससे कहीं ज्यादा हम पा सकते हैं।

दोस्तों अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आए तो लाइक और कमेंट करना ना भूलें क्योंकि हम जिंदगी के बारे में इसी तरह के सकारात्मक विचार लाते रहेंगे। दोस्तों इसी तरह की पोस्ट आगे भी पाने के लिए हमें फॉलो जरूर करें धन्यवाद।

Comments are closed.