झूठ बोलते थे कितना, फिर भी सच्चे थे हम, ये उन दिनों की बात है, जब बच्चे थे हम

बच्चे हमारे सबसे मूल्यवान

प्राकृतिक संसाधन है !!

बच्चों के द्वारा नापसंद

किये जाने से बेहतर है,

बड़ों के बीच से

निकाल दिया जाना !!

झूठ बोलते थे कितना,

फिर भी सच्चे थे हम,

ये उन दिनों की बात है,

जब बच्चे थे हम !!

आत्मा बच्चों के साथ

रहने पर स्वस्थ होती है !!


दोस्तों आपको हमारी प्रेरणादायक बातें पसंद आई है तो कम से कम एक लाइक और कमेंट जरूर करें। इस आर्टिकल को अपने दोस्तों में ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। साथ ही साथ हर रोज़ प्रेरणादायक बातें पढ़ने के लिए फॉलो करना न भूलें। धन्यवाद

Comments are closed.