झूठ से आराम पाने के बजाये सच से आहत होना बेहतर है

झूठ से आराम पाने के बजाये सच से आहत होना बेहतर है

झूठ से आराम पाने के बजाये सच से आहत होना बेहतर है। अच्छा जीवन एक प्रक्रिया है, होने की अवस्था नहीं। यह एक दिशा है एक गंतव्य नहीं है। जीवन एक प्याज की तरह है: आप इसे एक समय में एक परत से छीलते हैं, और कभी-कभी आप रोते हैं। सच यह है कि आप नहीं जानते कि कल क्या होने वाला है। जीवन एक पागल सवारी है, और कुछ भी गारंटी नहीं है। डरे हुए लोग आराम और निश्चितता चाहते हैं ताकि वे असफलता से बचें। पूरी तरह से जीवित रहने वाले लोग चुनौतियों की तलाश करते हैं क्योंकि यह वह जगह है जहाँ वे जीवित महसूस करते हैं।

मानव जीवन का उद्देश्य सेवा करना और दूसरों की मदद करने की इच्छा और दया दिखाना है। मैं जीवन का आनंद लेता हूं जब चीजें हो रही होती हैं। मुझे परवाह नहीं है अगर यह अच्छी चीजें या बुरी चीजें हैं, इसका मतलब है कि आप जीवित हैं। सभी दिनों में सबसे अधिक बर्बाद किया गया दिन वो है जिस दिन आप हँसे न हों।

जो चीजें आप अपने लिए करते हैं वे आपके जाने के साथ चली जाती हैं, लेकिन जो चीजें आप औरों के लिए करते हैं वे आपकी विरासत के रूप में यहाँ रहती हैं। मौत ज़िन्दगी का सबसे बड़ा नुक्सान नहीं है। सबसे बड़ा नुक्सान वो है जो हमारे जिंदा रहते हुए हमारे भीतर मर जाता है। ज़िन्दगी एक किताब है और ऐसे हजारों पन्ने हैं जो हमने अभी तक नहीं पढ़े हैं। अगर आप ये पढ़ रहे हैं…बधाई हो, आप ज़िन्दा हैं। अगर ये मुस्कुराने की वजह नहीं है, तो मुझे नहीं पता क्या है। मरने का डर जीने के डर से पैदा होता है जो इंसान पूरी तरह जीता है वो किसी भी वक़्त मरने के लिए तैयार रहता है।

दोस्तों अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आए तो लाइक और कमेंट करना ना भूलें क्योंकि हम जिंदगी के बारे में इसी तरह के सकारात्मक विचार लाते रहेंगे। दोस्तों इसी तरह की पोस्ट आगे भी पाने के लिए हमें फॉलो जरूर करें धन्यवाद।

Comments are closed.