दो युवतियों के साथ गैंगरेप : रातभर जानवरों की तरह नोंचा गया

Two Girls Gang Raped By 12 Men In Jharkhand  - Sakshi Samacharकान्सेप्ट फोटो
  • लॉकडाउन के बीच झारखंड में गैंगरेप की वारदात
  • 12 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

रांची : कोरोना वायरस से बचने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के बीच शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। गुमला जिले में दो युवतियों के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। इस मामले में शुक्रवार को गुमला थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। प्राथमिकी के अनुसार गैंगरेप की घटना तीन अप्रैल की शाम की है। दोनों लड़कियों ने पुलिस को बताया कि वे डरी हुई थीं, इसलिए वे थाने नहीं आई थीं।

पीड़िता के बयान के आधार पर शुक्रवार को गुमला थाने में गैंगरेप के आरोपी गांव के दर्जन भर युवकों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। पुलिस ने भारतीय दंड विधान (आईपीसी) की धारा 377 के तहत केस दर्ज कर मामले की तफ्तीश भी शुरू कर दी है।

गैंगरेप पीड़िता लड़कियों के अनुसार, तीन अप्रैल को उसने अपने परिचित डीबडीह के डब्बू को मड़वा गांव शादी में जाने की बात कहकर बुलाया था। शाम को डब्बू अपने दोस्त सुभाष उरांव व बिरसई उरांव के साथ गांव के स्कूल के पास पहुंचा। पीड़िता अपने एक सहेली के साथ वहां गई थी। लौटने के क्रम में छोटा खंटगा के रहने वाले संदीप और राजेश ने उसे व उसकी सहेली को रोका और मारपीट कर उन लड़कों की जानकारी मांगने लगे। इनकी सूचना पर गांव से एक दर्जन लड़के वहां पहुंचे और जबरन उन दोनों को आम के बगीचे में ले गया और गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। घटना को अंजाम देने के बाद दोनों युवतियों को रात के साढ़े ग्यारह बजे छोड़ते हुए धमकी दी कि गांव में घुसने नहीं  देंगे।

पीड़िता ने दिलेश्वर, सुकरा, संदीप, रतन, अनिल, अजय, महादेव, खोईराम सहित 12 युवकों को नामजद करते दुष्कर्म का आरोप लगाया है। पीड़िता के अनुसार, डर के कारण दोनों ने एक निर्माणाधीन मकान में शरण लिया। दूसरे दिन सुबह होने पर दोनों एक रिश्तेदार के घर चली गईं। जहां एक दिन रुकने के बाद पांच अप्रैल को घर वापस लौटी। इसके बाद शुक्रवार को परिजनों संग थाना पहुंचकर न्याय की गुहार लगाई। अब पुलिस इस मामले की गंभरीता से छानबीन कर रही है।

Comments are closed.