प्रेगनेंसी के दौरान खांसी जुकाम से बचने का घरेलु तरीका, हर लड़की की पता होना चाहिए

गर्भवती होने के दौरान आपके शरीर में कई बदलाव आते हैं। इस दौरान आपका इम्यून सिस्टम पहले से थोड़ा कमजोर भी हो जाता है। यही नहीं बल्कि प्रेगनेंसी में महिलाओं को इंफेक्शन जल्दी लगने का खतरा होता है। मौसम के बदलने के साथ ही अलग-अलग इंफेक्शन बढ़ जाते है। मानसून के दिनों में खांसी जुकाम और मौसमी बुखार होना आम बात है। लेकिन प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए यह छोटी छोटी बीमारियां बड़ी परेशानी की वजह बन जाती है। हालांकि प्रेगनेंसी की वजह से महिलाएं अलग-अलग दवाओं से भी दूरी बनाते हैं
लेकिन इन हालातों में डॉक्टर से परामर्श लेना बेहद जरूरी है। क्योंकि अगर आप खुद से कोई दवा लेती हैं तो यह आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता है। लेकिन  इन सबसे इतर आप घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल भी कर सकती हैं। इसलिए आज हम आपके लिए लाए हैं प्रेगनेंसी के दौरान सर्दी जुकाम से बचने के लिए कुछ आसान घरेलू नुस्खे।

गर्म पानी व सूप का सेवन

गर्म पानी से आपके गले को बेहद आराम मिलता है। ऐसे समय में जरूरी है कि आप तुलसी, अदरक और शहद की चाय का सेवन करें। यह आपके लिए बहुत लाभकारी होगी। इससे आपको खांसी जुकाम और गले दर्द की समस्या से राहत मिलेगी।

गरम पानी की भाप लें

सर्दी जुकाम में गर्म पानी की भाप लेने को रामबाण उपाय माना जाता है। भाप लेने के लिए आसान तरीका यह है। एक पैन में पानी गर्म कर ले। और कुछ दूरी पर अपना मुँह कपड़े से ढक लें। इस उपाय से आपकी जुकाम की समस्या दूर हो जाएगी। और आपको सिर दर्द आंखों में दर्द से भी आराम मिलेगा।

यूकेलिप्टस तेल का प्रयोग

प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम की परेशानी से राहत पाने के लिए आपके यूकेलिप्टस तेल  का भी प्रयोग कर सकती हैं। इसके लिए आपको सिर्फ सोते समय  अपने तकिये पर कुछ बूंदों का छिड़काव करना है इसका फायदा यह होगा कि सोते समय आप तेल की बूंदों की खुशबू की मदद से अपनी बंद नाक खोलने में सफल होंगे।

ज्यादा से ज्यादा अपने शरीर को गर्म रखें

प्रेगनेंसी के वक्त अक्सर खांसी जुकाम बढ़कर बुखार का रूप भी ले लेता है। और यदि मौसम ठंडा का हो तो यह ज्यादा नुकसानदेह होता है। इसीलिए अपने शरीर को ज्यादा से ज्यादा गर्म रखने का प्रयास करें। क्योंकि जितना आपका शरीर गर्म रहेगा उतना ही बचाव आप खुद का खासी जुकाम से कर पाएंगी।

संतुलित आहार का करें सेवन

लाजमी सी बात है कि बिना संतुलित आहार लिए बिना आप स्वस्थ नहीं रह सकते और यदि आप स्वस्थ नहीं रहेंगे तो आपको इन्फेक्शनस के खतरे बढ़ जाएंगे। इसलिए प्रेगनेंसी के वक्त ही नहीं बल्कि हमेशा अपने डेली रूटीन में संतुलित आहार का ही सेवन करें। यह आपकी इम्युनिट पावर को बढ़ाने में मदद करता है। और साथ ही आपको मौसमी बीमारियों से भी बचाता है।

Comments are closed.