बस यूँही गुज़र जाएगी यह ज़िन्दगी, कभी खुद हंसों तो कभी रोते हुए को हंसा दो

जब थक जाओ तो आराम कर लो पर हार मत मानो

ज़िन्दगी से जो भी लम्हां मिले उसे चुरा लो। ज़िन्दगी प्यार से अपनी सजा लो। बस यूँही गुज़र जाएगी यह ज़िन्दगी, कभी खुद हंसों तो कभी रोते हुए को हंसा दो।इस बात को जान लो कि “अफसोस की कोई कीमत अतीत को नहीं बदल सकती है, और चिंता की कोई कीमत भविष्य को नहीं बदल सकती है। किस्मत करवाती है कटपुतली का खेल जनाब वरना, ज़िन्दगी के रंगमंच पर कोई भी कलाकार कमज़ोर नहीं होता।

मिट्टी के दीपक सा है ये जीवन..तेल खत्म….खेल खत्म। गलत सोच और गलत अंदाजा इंसान को हर रिश्ते से गुमराह कर देता है। जिनके उपर जिम्मेदारियों का बोझ होता है, उनके पास रुठने और टूटने का समय नही होता। हम ऐसा सोचकर जीते हैं की लोग क्या कहेंगे, क्या हम कभी ऐसा सोचते हैं की ईश्वर क्या कहेंगे। जिंदगी भी बड़ी अजीब चीज़ है, जो कभी सोचा वो कभी मिला नही, जो पाया कभी सोचा नही, और जो मिला रास आया नही, जो खोया वो याद आता है, और जो मिला सम्भाला जाता नही।

दवा जेब में नहीं परंतु, शरीर में जाए तो असर होता है, वैसे ही अच्‍छे विचार मोबाइल में नहीं, ह्दय में उतरें तो जीवन सफल होता है। जिंदगी कितनी लम्बी है यह मायने नहीं रखता बल्कि गहराई मायने रखती है। जीवन का सबसे बड़ा उपयोग यह है की इसे किसी ऐसे चीज में लगाये जो इसके बाद भी रहे। ज़िन्दगी में धैर्य रखना जरूरी है। धैर्य एक कड़वा पौधा है मगर उसके फल मीठे होते हैं। जब थक जाओ तो आराम कर लो पर हार मत मानो । बारिश के बिना इंद्रधनुष नहीं होता। चुनौतियाँ, असफलताएँ, पराजय और अंततः प्रगति, वही हैं जो आपके जीवन को सार्थक बनाती हैं।

दोस्तों अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आए तो लाइक और कमेंट करना ना भूलें क्योंकि हम जिंदगी के बारे में इसी तरह के सकारात्मक विचार लाते रहेंगे। दोस्तों इसी तरह की पोस्ट आगे भी पाने के लिए हमें फॉलो जरूर करें धन्यवाद।

Comments are closed.