एक बल्लेबाज ने 70 गेंदों पर किया 7 गेंदबाजों का काम तमाम, 20 गेंदों पर 102* रन ठोक मचाया कत्लेआम, 62 गेंद पहले गेम ओवर

 एक बल्लेबाज अकेले ही पूरी टीम पर भारी पड़ गया. ऐसा करने के लिए उसने सिर्फ 70 गेंदों का सामना किया. इन 70 गेंदों पर उसने विरोधी टीम के 7 गेंदबाजों का काम तमाम किया. यानी औसत निकालें तो प्रति 10 गेंद विरोधी टीम के एक गेंदबाज को उसने टारगेट किया. हम बात कर रहे हैं इंग्लैंड में खेले जा रहे रॉयल लंदन वनडे कप (Royal London One Day Cup) टूर्नामेंट की. मुकाबला वार्विकशर और सरे (Surrey) के बीच था, जिसमें सरे एक 25 साल के बल्लेबाज टिम डेविड (Tim David) ने अकेले ही पूरी विरोधी टीम का दिवाला निकाल दिया और 62 गेंद पहले जीत पक्की भी कर दी. कमाल की बात ये है कि टिम डेविड किसी बड़े क्रिकेट प्लेइंग नेशन के बल्लेबाज नहीं हैं बल्कि सिंगापुर (Singapore) जैसे क्रिकेट के मामले में उभरते देश के खिलाड़ी है.

25 साल के टिम डेविड ने सरे की ओर से खेलते हुए टूर्नामेंट में अपना सबसे बड़ा स्कोर बनाते हुए टीम की जीत पक्की की है. आखिर तक नाबाद रहे उनकी विस्फोटक बैटिंग में चौके छक्कों का ढेर देखने को मिला. उन्होंने क्रीज पर 99 मिनट बिताए और इस दौरान विरोधी टीम की ओर से आजमाए 7 गेंदबाजों में से सभी की अच्छे से धुनाई की.

सरे की जीत में चमका सिंगापुर का बल्लेबाज

मुकाबले में पहले वार्विकशर ने बैटिंग की और 50 ओवर में 9 विकेट खोकर 268 रन बनाए. वार्विकशर का कोई भी बल्लेबाज अर्धशतक नहीं लगा सका लेकिन हर एक बल्लेबाज ने दहाई का आंकड़ा जरूर पार किया. सरे की टीम को 269 रन बनाने का लक्ष्य मिला. इस टारगेट का पीछा करने में उसकी शुरुआत जरूर लड़खड़ाई पर क्रीज पर टिम डेविड के आते ही सारा नजारा ही पलट गया. स्कोरबोर्ड में गति देखने को मिली तो साझेदारियां भी जोर पकड़ने लगी. नतीजा ये हुआ कि टीम ने 7 विकेट से मुकाबला जीत लिया.

एक बल्लेबाज ने 7 गेंदबाजों के खिलाफ मचाया कत्लेआम

25 साल के टिम डेविड ने अपनी इनिंग में 200 की स्ट्राइक रेट से 70 गेंदों पर नाबाद 140 रन बनाए. इस दौरान उन्होंने 11 छक्के और 9 चौके जमाए. यानी छक्के और चौके का कुल योग कर दें तो 102 रन उन्होंने सिर्फ 20 गेंदों पर ही बना दिए. टिम डेविड ने इस दौरान तीसरे विकेट के लिए 56 रन और चौथे विकेट के लिए 154 रन की नाबाद साझेदारी भी की. बल्ले से शतकीय प्रहार करने वाले टिम डेविड का इससे पहले रॉयल लंदन वनडे कप में बड़ा स्कोर सिर्फ 13 रन का था. लेकिन 140 रन की नाबाद पारी खेलकर उन्होंने न सिर्फ अपने लिस्ट ए करियर का अब सबसे बड़ा स्कोर कायम किया है बल्कि सरे के नॉकआउट राउंड में पहुंचने की उम्मीदों को भी बरकरार रखा है.