KL Rahul Century: केएल राहुल ने सहवाग से दोगुनी रफ्तार से किया बड़ा कमाल, जानिए शतक की 5 बड़ी बातें

 नई दिल्ली. टीम इंडिया के ओपनर केएल राहुल (KL Rahul Century) को साल 2019 में टीम इंडिया की टेस्ट टीम से बाहर कर दिया गया था. लेकिन अब केएल राहुल ने ऐसी वापसी की है कि दुनिया उन्हें सलाम कर रही है. केएल राहुल ने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच (India vs England, 2nd Test) में शानदार शतक जड़ा. लॉर्ड्स (Lords Test) के मैदान पर राहुल की शतकीय पारी ने उन सभी आलोचकों के मुंह बंद कर दिये जो अकसर उनकी तकनीक पर सवाल खड़े करते थे. राहुल ने लॉर्ड्स के मुश्किल हालातों में कमाल की बल्लेबाजी की और अपने टेस्ट करियर का छठा शतक लगाया. केएल राहुल ने अपने इस शतक के दौरान कई कारनामों को अंजाम दिया, आइए आपको बताते हैं उनकी बेहतरीन पारी की पांच बड़ी बातें.

केएल राहुल लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर शतक लगाने वाले महज तीसरे भारतीय ओपनर हैं. केएल राहुल से पहले वीनू मांकड ने साल 1952 में लॉर्ड्स में सेंचुरी लगाई थी. साल 1990 में रवि शास्त्री ने ये कारनामा किया था.
केएल राहुल एशिया के बाहर शतक लगाने के मामले में वीरेंद्र सहवाग की बराबरी पर पहुंच गए हैं. केएल राहुल के एशिया के बाहर 4 टेस्ट शतक हो गए हैं. लेकिन यहां अहम बात ये है कि इस बल्लेबाज ने सहवाग से दोगुनी रफ्तार से इस कारनामे को अंजाम दिया है. सहवाग ने 59 पारियों में एशिया के बाहर 4 शतक लगाए थे वहीं राहुल को इस काम को करने में महज 28 पारियां लगी. बता दें एशिया के बाहर सबसे ज्यादा 15 शतक सुनील गावस्कर के नाम हैं.
बता दें पिछले 6 सालों में एशिया के बाहर भारत की ओर से महज 4 शतक लगे हैं और ये चारों ही शतक केएल राहुल के बल्ले से निकले हैं.
केएल राहुल को इंग्लैंड से कुछ ज्यादा ही प्यार है. केएल राहुल ने इंटरनेशनल क्रिकेट में 13 शतक ठोके हैं जिसमें से 4 शतक तो उन्होंने अकेले इंग्लैंड में ही ठोके हैं. राहुल ने भारत में 3 शतक लगाए हैं ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका, न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज में भी वो 1-1 शतक लगा चुके हैं.
केएल राहुल भारत के महज तीसरे क्रिकेटर हैं जिन्होंने इंग्लैंड के लॉर्ड्स और ओवल मैदान पर शतक ठोके हैं. राहुल से पहले रवि शास्त्री और राहुल द्रविड़ ने ये कारनामा किया है.