धोनी ने दानिश कनेरिया को दिया था करारा जवाब, पाक गेंदबाज ने की थी सिर में गेंद मारने की कोशिश – VIDEO

 नई दिल्ली. एक घातक क्रिकेट दिमाग और एक मद्धम मुस्कान के बारे में सोचिए. आपके सामने जो तस्वीर आएगी वो शायद भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की होगी. भारतीय क्रिकेट में धोनी ने अपना वह योगदान दिया है, जिसे कभी भी भुलाया नहीं जा सकता. विकेटकीपिंग की कला में सबसे बड़ी क्रांति के रूप में माने जाने वाले धोनी ने हमेशा आक्रामता और परेशानी में भी समाधान ढूंढ लिए हैं. धोनी क्रिकेट के क्षेत्र में सबसे विस्फोटक बल्लेबाजों में से एक के रूप में उभरे, जिन्होंने बड़े छक्के लगाए.


हर बार जब वह मैदान पर उतरे तो ना केवल शांत के साथ बल्कि परिणाम पर अधिक से अधिक बार एक मजबूत प्रभाव डाला. उन्होंने मैदान पर अपनी भावनाओं को कभी नहीं दिखाया, लेकिन यह सुनिश्चित किया कि काम हो गया. 2006 में दूसरे और अंतिम फैसलाबाद टेस्ट का उदाहरण कुछ ऐसा ही है. भारत इस दौरान पाकिस्तान के दौरे (India vs Pakistan) पर गया था. इस मैच में धोनी और पाकिस्तानी गेंदबाज दानिश कनेरिया (Danish Kaneria) के बीच ‘जंग’ देखने को मिली थी. भारत का स्कोर 5 विकेट के नुकसान पर 281 रन था, जब धोनी और इरफान पठान क्रीज पर थे.


धोनी और इरफान दोनों ही बल्लेबाज चल रहे थे और विपक्ष के खिलाफ कुछ आक्रामक क्रिकेट खेल रहे थे. हालांकि, जब पूर्व भारतीय कप्तान ने 39 रन बना लिए, तब पाकिस्तानी स्पिनर दानिश कनेरिया ने जानबूझकर धोनी की तरफ गेंद फेंकी, जो लगभग उनके सिर से टकरा गई थी. धोनी उस किस्म के क्रिकेटर हैं, जो मैदान पर लड़ने से ज्यादा अपने बल्ले से बोलना पसंद करते हैं. उन्होंने दानिश कनेरिया की इस हरकत का करारा जवाब देते हुए एक विशाल छक्का जड़ा.


इस मैच में धोनी ने अपना पहला टेस्ट शतक जड़ा था. इस शतकीय पारी में उन्होंने 19 चौके और चार छक्के जड़े थे. इस टेस्ट मैच का नतीज ड्रॉ रहा था, लेकिन पाकिस्तान ने सीरीज 1-0 से जीता थी. भारत ने इस दौरे पर पांच मैचों की वनडे सीरीज 4-1 से जीती थी. इस वनडे सीरीज में धोनी और युवराज ने शानदार खेल दिखाया था. धोनी के पास भारतीय कप्तान के रूप में सब कुछ है. उन्होंने आईसीसी की तीनों ट्रॉफियां जीती हैं और ऐसा करने वाले वह दुनिया के इकलौते कप्तान हैं. धोनी ने तीन बार आईपीएल ट्रॉफी भी जीती है.