Rakshabandhan: रक्षाबंधन पर बहन को दें सिर्फ ₹1 में इस सरकारी स्कीम का तोहफा, मैच्योरिटी पर मिलेगा 15 लाख का फायदा

 नई दिल्ली. रक्षाबंधन (Raksha Bandhan 2021) पर सभी अपनी बहन और बिटिया को कोई ना कोई उपहार जरूर देते हैं. लेकिन इस राखी (Rakhi) के त्यौहार पर आप अपनी बहन एक ऐसा तोहफा दे सकते हैं जो उसके भविष्य को बना सकता है. जी हां…हम बात कर रहे हैं सरकार की एक ऐसी स्कीम की जिसमें मात्र 1 रुपये की रोजाना बचत पर आप भविष्य के लिए बड़ा फंड जमा कर सकते हैं.


यह योजना है सरकार की सुकन्या समृद्धि योजना (SSY). एक अच्छी निवेश योजना है, निश्चित आमदनी के साथ पूंजी की सुरक्षा इस स्कीम की खासियत है.


क्या है सुकन्या समृद्धि योजना- सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) बेटियों के लिए केंद्र सरकार की एक छोटी बचत योजना है जिसे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्कीम के तहत लांच किया गया है. छोटी बचत स्कीम में सुकन्या सबसे बेहतर ब्याज दर वाली योजना है.

इतने रुपये से किया जा सकता है निवेश- सुकन्या समृद्धि योजना में मात्र 250 रुपये से अकाउंट खोला जा सकता है. यानी अगर आप रोजाना 1 रुपये भी बचाते हैं तो भी आप इस स्कीम का लाभ ले सकते हैं. किसी एक वित्त वर्ष में कम से कम 250 रुपये जरूर जमा कराया जाना चाहिए. किसी एक वित्त वर्ष में SSY खाते में एक बार या कई बार में 1.5 लाख रुपये से अधिक जमा नहीं कराया जा सकता.

कितना मिलता है ब्याज- अभी एसएसवाई (Sukanya Samriddhi Account) में 7.6 फीसदी की दर से ब्याज दिया जा रहा था जो इनकम टैक्स छूट के साथ है. इससे पहले इसमें 9.2 फीसदी तक ब्याज भी मिला है. 8 साल की उम्र के बाद बेटी की उच्च शिक्षा के लिए खर्च के मामले में 50 फीसदी तक रकम निकाली जा सकती है.


कैसे खुलवाएं खाता- सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता किसी पोस्ट ऑफिस या कमर्शियल ब्रांच की अधिकृत शाखा में खोला जा सकता है. इस योजना के तहत अकाउंट बच्ची के जन्म लेने के बाद 10 साल से पहले की उम्र में कम से कम 250 रुपये जमा के साथ खोला जा सकता है. चालू वित्त वर्ष में सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा कराये जा सकते हैं.


कब तक चलाया जा सकता है खाता- सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोलने के बाद यह गर्ल चाइल्ड के 21 साल के होने या 18 साल की उम्र के बाद उसकी शादी होने तक चलाया जा सकता है.

रकम जमा नहीं होने पर कितनी लगती है पेनाल्टी- यदि हर साल न्यूनतम 250 रुपये जमा नहीं किया जाता है, तो अकाउंट बंद हो जाएगा और उस वर्ष के लिए जमा राशि के लिए आवश्यक न्यूनतम राशि के साथ 50 रुपये प्रति वर्ष के पेनल्टी के साथ रिवाइज किया जा सकता है. अकाउंट खोलने से 15 साल बाद तक रिएक्टिवेशन हो सकता है.