ATM से अनलिमिटेड ट्रांजैक्‍शन की सुविधा दे रहा है यह बैंक, न कोई कैश लिमिट और न ही एक्सट्रा चार्ज

 ATM Transaction Limit: एटीएम ट्रांजैक्शन से जुड़े RBI के नए नियमों के बाद कई बैंक अपने ग्राहकों को 5 बार तक फ्री ट्रांजैक्शन की सुविधा देते हैं. लेकिन Ujjivan Small Finance Bank ने अपने ग्राहकों को अनलिमिटेड फ्री एटीएम ट्रांजैक्शन की सुविधा की पेशकश की है. वर्ल्‍ड सीनियर सिटीजन डे के मौके पर बैंक ने इस सुविधा के बारे में जानकारी दी है. बैंक के ग्राहक एटीएम और ब्रांच, दोनों जगहों से अनलिमिटेड निकासी और जमा बिना किसी शुल्क के कर सकते हैं.

बता दें कि जून में आरबीआई ने एटीएम से कैश निकासी के नियमों में बदलाव किया था. आरबीआई ने 1 जनवरी 2022 से बैंकों को कस्टमर चार्ज के रूप में ग्राहकों से 21 रुपए वसूलने की इजाजत दे दी है. फिलहाल बैंकों को इसके लिए अधिकतम 20 रुपए तक चार्ज करने की अनुमति है.

आरबीआई ने वित्तीय लेनदेन के लिए 15 रुपए से 17 रुपए तक और गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए 5 रुपए से 6 रुपए तक प्रति लेनदेन इंटरचेंज शुल्क में वृद्धि की अनुमति दी है. यह 1 अगस्त 2021 से लागू हुआ है.

ज्यादातर बैंक 5 बार ट्रांजैक्शन की देते हैं छूट

आप किसी भी बैंक के ग्राहक हों, हर महीने अपने बैंक के एटीएम से 5 बार ही कैश निकाल सकेंगे, जबकि नॉन कैश ट्रांजैक्शन के लिए अपने ही बैंक के एटीएम से कोई लिमिट नहीं है. यानी जितनी मर्जी, उतनी बार आप इंक्वायरी, ट्रांसफर जैसे ट्रांजैक्शन कर सकेंगे. वहीं, दूसरे बैंक के एटीएम का इस्तेमाल करने पर आप 3 से 5 बार ही उनका इस्तेमाल कर सकेंगे. इसमें नॉन कैश ट्रांजैक्शन भी शामिल है.

मेट्रो शहरों मे 3 बार ही निकाल सकते हैं कैश

आपको बता दें कि दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, हैदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई जैसे मेट्रो शहरों दूसरे बैंक के एटीएम से 3 बार कैश निकाल सकते हैं. मेट्रो शहरों को छोड़ कर देश में कहीं भी आप दूसरे बैंक के एटीएम का 5 बार इस्तेमाल कर सकेंगे. इसमें आप कैश निकालें या बैलेंस इंक्वायरी करें या फिर पैसे ट्रांसफर करें. सभी कैश और नॉन कैश ट्रांजैक्शन की लिमिट 5 बार है.

उज्जीवन बैंक के ग्राहकों को अनलिमिटेड छूट

अगर आप उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के ग्राहक हैं तो आपके लिए इसी बैंक के एटीएम से कैश या नॉन कैश ट्रांजैक्शन की कोई लिमिट लागू नहीं होगी. बैंक ने अपने ग्राहकों को अनलिमि​टेड ट्रांजैक्शन की सुविधा दी है. यानी आप चाहे जितनी बार कैश निकालें या अमाउंट ट्रांसफर करें या फिर इंक्वायरी करें, इसके लिए आपसे चार्ज नहीं वसूला जाएगा.

यहां देखें बैंक की ओर से किया गया ट्वीट:

बैंक की मर्जी, ग्राहकों से चार्ज लें या न लें

संसद के मॉनसून सत्र में इसी से जुड़े एक सवाल का जवाब देते हुए वित्त राज्यमंत्री ने स्पष्ट किया था कि आरबीआई की ओर से मैक्सिमम चार्जेस और सीमा तय की गई है. आरबीआई की ओर से बैंकों के लिए ट्रांजैक्शन शुल्क मैनडेटरी नहीं है. यह फैसला बैंकों पर छोड़ा गया है कि वे अपने ग्राहकों को एटीएम से ट्रांजैक्शन में कितनी छूट दें.

जानकारी के लिए यह भी बता दें कि हाल ही में उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के एमडी नितिन चुग ने एमडी और सीईओ पद से अपना इस्तीफा दे दिया है. 30 सितंबर 2021 से वह इस पद पर नहीं रहेंगे.