Ind vs Eng: गेंद से ‘जादूगर’ और बल्ले से ‘फाइटर’ है ये खिलाड़ी, इस धुरंधर ने की लीड्स टेस्ट में मौका दिए जाने की वकालत

 भारत और इंग्लैंड (India vs England) के बीच 5 टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा टेस्ट 25 अगस्त से लीड्स के हेडिंग्ले मैदान पर खेला जाएगा. इस टेस्ट मैच के लिए टीम इंडिया की तैयारी भी शुरू हो गई है. हालांकि, इस टेस्ट में उतरने से पहले इंग्लैंड में ही बैठे एक दिग्गज भारतीय ने स्पिन ऑलराउंडर अश्विन को खिलाने की वकालत की है. ये दिग्गज भारतीय हैं टीम इंडिया के पूर्व विकेट कीपर बैट्समैन फारुख इंजीनियर, जिनका मानना है कि अश्विन न सिर्फ गेंद से टीम इंडिया के लिए जादूगर हैं बल्कि बल्ले से फाइटर भी हैं. लीड्स में होने वाले तीसरे टेस्ट में टीम इंडिया को उन्हें खिलाना चाहिए. इससे पहले फारुख इंजीनियर ने सूर्यकुमार यादव को भी तुरुप का इक्का बताया था और उन्हें भी रहाणे और पुजारा से पहले खिलाने की वकालत की थी.

भारत के पूर्व विकेटकीपर रहे फारुख इंजीनियर ने कहा कि, ” हेडिंग्ले में भारत को 3 तेज गेंदबाज और अश्विन के साथ उतरना चाहिए. इससे टीम के पास वैरायटी होगी. और फिर हमें ये भी नहीं भूलना चाहिए कि अश्विन एक ऑलराउंडर हैं. वो न सिर्फ वर्ल्ड क्लास गेंदबाज हैं बल्कि अच्छे बल्लेबाज भी हैं. वो एक फाइटर हैं. ऑस्ट्रेलिया में उन्होंने कमाल का शतक जड़ा था. टीम को ऐसे ही फाइटर खिलाड़ी की जरूरत है.”

लीड्स में अश्विन को खिलाओ- इंजीनियर

फारुख इंजीनियर ने जोर देते हुए कहा कि, ” लीड्स में होने वाले तीसरे टेस्ट में अश्विन को किसकी जगह टीम में मिलनी चाहिए ये मैं नहीं जानता. लेकिन उन्हें मौका दिया जाना चाहिए. उनकी गेंदबाजी में जादू है. वो बल्लेबाजी में फाइटर हैं. मेरा वोट उन्हें खिलाने के लिए जाता है. उन्हें टीम में होना ही चाहिए.”  पूर्व भारतीय दिग्गज ने ये भी कहा कि, ” मुझे सुनने में आया था कि अश्विन लॉर्ड्स टेस्ट की प्लेइंग इलेवन का भी हिस्सा थे. लेकिन फिर क्लाउडी कंडीशन को देखते हुए भारत ने 4 पेसर के साथ उतरने का फैसला किया था.”

रहाणे और पुजारा से पहले SKY- फारुख इंजीनियर

भारत के लिए 46 टेस्ट और 5 वनडे खेलने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज ने स्पोर्ट्स तक से बातचीत में कहा कि, ” मैं सूर्यकुमार यादव का बहुत बड़ा फैन हूं. मुझे लगता है कि वो जबरदस्त खिलाड़ी है. मैं निश्चित रूप से SKY को रहाणे या पुजारा से पहले खिलाना पसंद करूंगा. मैं ये नहीं कह रहा कि इन दोनों में क्लास नहीं है. ये भी बहुत अच्छे और लाजवाब खिलाड़ी हैं, लेकिन सूर्यकुमार यादव मैच विनर हैं. उनमें आक्रमकता ज्यादा ह. वो ऐसे खिलाड़ी हैं जो तेजी से शतक या फिर 70-80 रन बना सकते हैं. ”