अगर SBI और HDFC Bank से ज्‍यादा चाहिए रिटर्न तो इन बैंकों में कराएं FD, मिलेगा 7 फीसदी ब्‍याज

 नई दिल्‍ली. बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट (Bank FD) और सेविंग्स अकाउंट (Saving Accounts) में जोखिम बहुत ही कम रहता है. ऐसे में बड़ी संख्‍या में लोग निवेश के लिए इन दोनों को सबसे ज्‍यादा तरजीह देते हैं. इससे उन्हें पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई करने में भी मदद मिलती है. हालांकि, ज्‍यादातर निवेशक फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट पर मिलने वाले रिटर्न (Return) को बहुत कम मानते हैं. ऐसे में वे एफडी के लिए सबसे ज्‍यादा ब्‍याज देने वाले बैंक की तलाश करते हैं. वहीं, पिछले कुछ साल में स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) समेत कई सरकारी और निजी बैंकों ने एफडी पर ब्‍याज दरों में काफी कटौती (Interest Rates Cut) की है. आइए जानते हैं कि ऐसे कौन-से बैंक हैं, जो ग्राहकों को एसबीआई और एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) से भी ज्‍यादा रिटर्न की पेशकश कर रहे हैं.


कौन-सा बैंक दे रहा है कितनी ब्‍याज दर
नए और स्मॉल प्राइवेट बैंक बड़े बैकों के मुकाबले ज्‍यादा ब्‍याज दर की पेशकश कर रहे हैं. इनमें एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक, इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक और उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक 7 फीसदी तक इंटरेस्ट रेट दे रहे हैं.
>> डीसीबी बैंक (DCB Bank) की ओर से एफडी पर 6.75 फीसदी ब्‍याज दिया जा रहा है.
>> आरबीएल बैंक (RBL Bank) भी ग्राहकों को फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट पर 6.25 फीसदी ब्‍याज दे रहा है.
>> बंधन बैंक (Bandhan Bank) में एफडी पर 6 फीसदी ब्‍याज मिल रहा है. ये ब्‍याज दरें प्रमुख सरकारी और निजी बैंकों के मुकाबले ज्‍यादा हैं.
>> एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank), आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) और एक्सिस बैंक (Axis Bank) की ब्‍याज दर 3-3.5 फीसदी तक ही हैं.
>> कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra Bank) 4 फीसदी तक का ब्‍याज दे रहा है.
>> सरकारी बैंकों में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) की ब्‍याज दर 2.70 फीसदी और बैंक ऑफ बड़ौदा की 3.20 फीसदी ही है.


छोटे निजी बैंक रखते हैं ज्‍यादा मिनिमम बैलेंस
स्मॉल प्राइवेट बैंकों में मिलने वाले ज्‍यादा ब्‍याज के साथ एक शर्त भी जुड़ी रहती है. इनमें मिनिमम बैलेंस की राशि आमतौर पर ज्‍यादा रहती है. एक बड़े बैंक में मिनिमम बैलेंस 500 रुपये तक हो सकता है, लेकिन एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक में यह 2,000 रुपये है. विशेषज्ञों का कहना है कि स्मॉल बैंक मिनिमम बैलेंस को अधिक रखते हैं, क्योंकि वे सैलरीड मिडल क्लास और सेल्फ एंप्लॉयड प्रोफेशनल्स तक पहुंचना चाहते हैं. विशेषज्ञों का कहना है कि लोगों को ऐसा बैंक चुनना चाहिए, जिसका नेटवर्क बड़ा है और सर्विस रिकॉर्ड अच्छा है.