जसप्रीत बुमराह ने 7 रन देकर 5 विकेट लिए, भारत को मिली थी ‘सबसे बड़ी’ टेस्ट जीत

 नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट इतिहास में आज यानी 25 अगस्त का दिन (On This Day In 2019) बेहद खास है. टीम इंडिया ने इसी दिन 2019 में वेस्टइंडीज को एंटीगा टेस्ट (2019 IND vs WI Antigua Test) में 318 रन से शिकस्त दी थी. यह विदेशी जमीन पर रनों के लिहाज से भारत की सबसे बड़ी जीत (Team India’s biggest away Test win) थी. इस जीत के हीरो थे तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah). बुमराह ने इस टेस्ट की दूसरी पारी में 8 ओवर में 7 रन देकर 5 विकेट लिए थे. उन्होंने 4 ओवर मेडन फेंके थे. उनकी इस गेंदबाजी के बदौलत भारत चौथे दिन ही यह टेस्ट जीत गया था.


बुमराह ने इस प्रदर्शन के बूते रिकॉर्ड बुक में अपना नाम दर्ज करवा लिया था. 11वें ही टेस्ट में वो ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज में 5 विकेट लेने वाले पहले एशियाई गेंदबाज बने थे. इसके अलावा पारी में 5 विकेट लेने वाले गेंदबाज का यह तीसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था. इस लिस्ट में ऑस्ट्रेलिया के एर्नेस्ट रेमंड (Ernest Raymond) पहले और हर्बट आयरनमोंगर (Herbert Ironmonger) दूसरे स्थान पर हैं.

रेमंड ने 1947 में भारत के खिलाफ ब्रिसबेन टेस्ट की एक पारी में 2 रन देकर 5 विकेट लिए थे. आयरनमोंगर ने भी एक पारी में इतने ही विकेट लिए थे. लेकिन इसके लिए उन्होंने 6 रन खर्चे थे. दक्षिण अफ्रीका के वर्नोन फिलेंडर (Vernon Philander) ने भी एक पारी में 7 रन देकर 5 विकेट लेने का कारनामा किया है.


इशांत ने पहली पारी में 5 विकेट लिए थे
अब बात 2019 में वेस्टइंडीज के खिलाफ हुए इसी एंटीगा टेस्ट की करते हैं. इस मुकाबले में कैरेबियाई कप्तान जेसन होल्डर (Jason Holder) ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया था. वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाजों ने भारत को पहली पारी में बड़ा स्कोर नहीं बनाने दिया. टीम इंडिया 297 रन ही बना पाई. भारत की तरफ से अजिंक्य रहाणे (81) और रवींद्र जडेजा (58) ने अर्धशतकीय पारी खेली.


वहीं, वेस्टइंडीज के लिए शेनन गेब्रियल ने 3 और रोस्टन चेज ने 2 विकेट लिए. अब बारी वेस्टइंडीज की बल्लेबाजों की थी. लेकिन कैरेबियाई बल्लेबाजों ने गेंदबाजों की मेहनत पर पारी फेर दिया. वेस्टइंडीज की टीम पहली पारी में 222 रन पर ढेर हो गई. इशांत शर्मा ने भारत के लिए 5 विकेट लिए.


बुमराह ने दूसरी पारी में 7 रन देकर 5 विकेट झटके
भारत को पहली पारी के आधार पर 75 रन की बढ़त मिली. रहाणे ने दूसरी पारी में 102 रन ठोक डाले. 2 साल बाद टेस्ट में उनके बल्ले से शतक निकला था. उन्हें हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) का पूरा साथ मिला. विहारी शतक बनाने से 7 रन से चूक गए. लेकिन दोनों ने भारत की जीत की नींव रख दी थी. भारत ने 343 रन पर 7 विकेट के स्कोर पर पारी घोषित की.

वेस्टइंडीज को जीत के लिए 419 रन का टारगेट मिला. 11वां टेस्ट खेल रहे बुमराह कैरेबियाई बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे. उन्होंने 7 रन में 5 विकेट झटक डाले और वेस्टइंडीज टीम 26.5 ओवर में ही 100 रन पर ढेर हो गई. इशांत शर्मा ने भी 3 विकेट लिए. सबसे ज्यादा 38 रन केमार रोच ने बनाए. इस तरह भारत ने विदेश में रनों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत दर्ज की.