ICICI Bank के ग्राहक ध्यान दें, अगले महीने से बदल जाएंगे ATM के ये नियम… देने होंगे एक्स्ट्रा पैसे

 आईसीआईसीआई बैंक अब अगले महीने से एटीएम और कैश विड्रॉल के नियमों में बदलाव करने वाला है. बैंक एटीएम से कैश निकालने से लेकर बैंक ब्रांच से पैसे निकालने तक के नियमों में बदलाव करने की तैयारी कर रहा है. अगर आपका भी आईसीआईसीआई बैंक में अकाउंट है तो आपको इन नियमों का ध्यान रखना होगा, क्योंकि कई ट्रांजेक्शन पर बैंक की ओर से लिमिट तय कर दी गई है. ऐसे में अगर आप लिमिट से ज्यादा ट्रांजेक्शन करते हैं तो आपको फीस का भुगतान कर सकते हैं.

ऐसे में आप भी पहले नियमों के बारे में जान लें और उन नियमों के अनुसार ही ट्रांजेक्शन करें वर्ना आपको चार्ज देना पड़ सकता है. आइए जानते हैं आईसीआईसीआई बैंक के उन नियमों के बारे में जो अलगे महीने से बदले जाने हैं…

एटीएम से जुड़े नियम

जिन लोगों का आईसीआईसीआई बैंक में खाता है, वे दूसरे बैंक के एटीएम से तीन बार ही फ्री में ट्राजेक्शन कर सकेंगे. इसके बाद उन्हें फीस का भुगतान करना होगा. बता दें कि यह नियम मुंबई, नई दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद जैसे मेट्रो शहर में ही लागू होगा. वहीं, दूसरे शहरों में पहले पांच ट्रांजेक्शन फ्री होंगे. अब अगले महीने से ज्यादा ट्रांजेक्शन करने पर 20 रुपये प्रति ट्रांजेक्शन के रुप में फीस देनी होगी. वहीं, नॉन फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन पर 8.50 रुपये हर ट्रांजेक्शन के देने होंगे.

बैंक से पैसे निकलवाने पर नियम

आईसीआईसीआई बैंक से हर महीने चार ट्रांजेक्शन कर सकते हैं यानी महीने में चार बार अकाउंट से पैसे निकाल सकते हैं. अगर चार बार से ज्यादा कोई पैसे निकालता है तो उसे एक बार के ट्रांजेक्शन के हिसाब से 150 रुपये देने होंगे. यानी बैंक से पैसे निकालने पर हर ट्रांजेक्शन पर 150 रुपये देने होते हैं. इसके अलावा आईसीआईसीआई बैंक ने हर महीने के लिए 1 लाख रुपये तक के ट्रांजेक्शन फिक्स कर रखे हैं. इसके बाद पैसे की निकासी पर उन्हें चार्ज देना होता है.

थर्ड पार्टी के लिए ट्रांजेक्शन

थर्ड पार्टी ट्रांजेक्शन के लिए 25 हजार रुपये प्रति दिन के हिसाब से तय किए हैं. 25 हजार रुपये से ज्यादा का ट्रांजेक्शन नहीं किया जा सकता है.

सैलरी अकाउंट होल्डर्स के लिए अलग नियम

सैलरी अकाउंट होल्डर्स को भी हर महीने चार ट्रांजेक्शन की छूट दी गई है. इसके बाद बैंक अपने ग्राहकों से 5 रुपये प्रति हजार रुपये के हिसाब से चुकाने होंगे.

चेक बुक के लिए खास नियम

बैंक की ओर से ग्राहकों को हर साल सिर्फ 25 चेक दिए जाएंगे. इसकी लिमिट बढ़ने के बाद बैंक 10 चेक की चेक बुक के लिए 20 रुपये देने होंगे.