SBI Alert: YONO ऐप से ट्रांजेक्शन करने से पहले ध्यान दें, बैंक ने बताया अभी आ रही है ये दिक्कत

 स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ग्राहकों को बैंक के साथ ऑनलाइन माध्यम से भी ट्रांजेक्शन की सुविधा देता है. इससे ग्राहक अपने घर बैठे ही ट्रांजेक्शन कर सकते हैं और किसी को भी पैसे भेज सकते हैं. जिन लोगों का स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में खाता है, वे एसबीआई की YONO ऐप्लीकेशन के जरिए ट्रांजेक्शन कर सकते हैं. हालांकि, कुछ दिनों से लोगों को टेक्निकल दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में अब एसबीआई बैंक ने अलर्ट जारी किया है.

एसबीआई बैंक ने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के जरिए बताया है कि अभी यूपीआई ट्रांजेक्शन को लेकर टेक्निकल टीम काम कर रही है. साथ ही उन्होंने कुछ वक्त के लिए दूसरे माध्यम से ट्रांजेक्शन करने के लिए भी कहा है. ऐसे में जानते हैं कि बैंक की ओर से क्या अलर्ट जारी किया है और ग्राहकों को बैंक की ओर से क्या सलाह दी गई है…

क्या है एसबीआई का अलर्ट?

दरअसल, हाल ही में एसबीआई के एक ग्राहक ने ट्विटर के जरिए शिकायत की है कि उन्हें गूगल पे और सैमसंग पे आदि में कार्ड लिंक करने में दिक्कत हो रही है. साथ ही उन्हें एसबीआई Yono ऐप से भी दिक्कत हो रही है. इस पर एसबीआई ने जवाब दिया है और बताया है कि इस पर टेक्निकल टीम काम कर रही है. एसबीआई ने कहा, ‘कृपया ध्यान दें, संबंधित तकनीकी टीम यूपीआई लेनदेन करने में आने वाली समस्याओं को देख रही है और उनका समाधान किया जाना बाकी है. हम आपसे वैकल्पिक माध्यम काम में लेने का अनुरोध कर रहे हैं.

एसबीआई कई बार करता है टेक्निकल मेंटीनेंस

बैंकों की तरफ से समय-समय पर मेंटीनेंस का काम चलता है. टेक्निकल मेंटीनेंस में बैंक से जुड़ी सुविधाएं कुछ देर के लिए बंद की जाती हैं. जिस समय मेंटीनेंस का काम चलता है, उस समय ग्राहकों को इंटरनेट या ऑनलाइन बैंकिंग से जुड़ी सुविधाओं का इस्तेमाल न करने की सलाह दी जाती है. अगर उस वक्त कोई इस्तेमाल करता है तो काम नहीं होगा, उलटा पैसे का लेनदेन फंस भी सकता है.

ग्राहकों से अपील

कोरोना संक्रमण को देखते हुए स्टेट बैंक अपने काम के तौर-तरीकों में लगातार बदलाव कर रहा है. बैंक का ज्यादा ध्यान अब डिजिटल बैंकिंग पर है. वेबसाइट और मोबाइल ऐप के जरिये भी बैंकिंग को बढ़ाने पर बड़ी तैयारी चल रही है. स्टेट बैंक ने अपने ग्राहकों को सलाह दी है कि कैश या एटीएम के बदले डेबिट और क्रेडिट कार्ड का ज्यााद इस्तेमाल किया जाए. बैंक की वेबसाइट के जरिये आरटीजीएस, एनईएफटी, यूपीआई और रूपे कार्ड के इस्तेमाल को बढ़ावा देने की बात कही जा रही है.