जब द्रविड़ ने इंग्लिश में लगाई धोनी को डांट, सहवाग बोले- मुझे आधा समझ ही नहीं आया

 नई दिल्ली. राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) अपने खेल के दिनों में अपने शांत व्यवहार के लिए जाने जाते थे और आज भी देश भर में सबसे पसंदीदा क्रिकेटरों में से एक बने हुए हैं. द्रविड़ को शायद ही कभी पिच पर और मैदान बाहर दोनों जगह आपा खोते हुए देखा गया हो. यह युवा खिलाड़ियों के लिए एक उदाहरण था, जो मैदान पर आक्रामक व्यवहार दिखाते हैं. हालांकि, ‘द वॉल’ के नाम से मशहूर राहुल द्रविड़ एक बार पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह (MS Dhoni) पर बुरी तरह से भड़क गए थे. गुस्से में उन्होंने धोनी को काफी कुछ कहा था. यह तब की बात है, जब युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के शुरुआती दौर में थे.


अपने करियर के शुरुआती दिनों में विकेटकीपर-बल्लेबाज धोनी को विपक्ष पर आक्रमण करना पसंद था. वह सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों को खेलने के पीछे रहते थे. वह अपने शॉट्स खेलना पसंद करते थे और इच्छा पर विरोधियों के खिलाफ छक्के मारने की शक्ति रखते थे. धोनी एक बार पाकिस्तान के खिलाफ एक तेजतर्रार शॉट खेलते हुए आउट हो गए थे, जिससे बाद उन्हें राहुल द्रविड़ के गुस्से का सामना करना पड़ा था.


धोनी उस समय एक नए खिलाड़ी थे और विकेटकीपर-बल्लेबाज ने द्रविड़ द्वारा फिर से डांटने से बचने के लिए अगले गेम में तुरंत अपना दृष्टिकोण बदल दिया. पूर्व भारतीय ओपनर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने क्रिकबज पर धोनी और राहुल द्रविड़ से जुड़े इस किस्से को शेयर किया. सहवाग ने खुलासा किया कि वह खुद द्रविड़ द्वारा युवा धोनी पर आपा खो देने से हैरान थे, लेकिन उन्होंने अगले गेम में विकेटकीपर-बल्लेबाज के गेम में बदलाव देखा.

सहवाग ने कहा, ”मैंने राहुल द्रविड़ को गुस्से में देखा है. जब हम पाकिस्तान में थे और महेंद्र सिंह धोनी नए खिलाड़ी थे. उसने एक शॉट खेला और प्वॉइंट पर लपके गए. ऐसे में द्रविड़ धोनी से बुरी तरह गुस्सा हो गए. उन्होंने गुस्से में कहा कि इस तरह आप खेलते हैं? आपको खेल खत्म करना चाहिए. मैं खुद द्रविड़ की ओर से अंग्रेजी में आई इस डांट को देखकर हैरान रह गया था. मुझे तो आधा समझ में नहीं आया था.”
 



उन्होंने आगे कहा, ”लेकिन जब महेंद्र सिंह धोनी अगली बार बल्लेबाजी के लिए तो मैंने देख सकता था कि वह शॉट्स बहुत ज्यादा नहीं खेल रहे थे. मैं उनके पास गया और पूछा क्या हो गया है. इस पर धोनी ने कहा कि वह दोबारा द्रविड़ की डांट नहीं खाना चाहते हैं. मैं आराम से फिनिश करूंगा और वापस जाऊंगा.” बता दें कि धोनी को खुद भी एक शांत खिलाड़ी के रूप में जाना जाता रहा है. मैदान और मैदान के बाहर उनके शांत अंदाज की वजह से ही उन्हें ‘कैप्टन कूल’ कहा जाता है.