एमएस धोनी हमेशा नहीं रहेंगे, आपको फॉर्म हासिल करने का तरीका खुद खोजना होगा: पूर्व सेलेक्टर

 मुंबई. पूर्व भारतीय स्पिनर वेंकटपति राजू (Venkatapathy Raju) को लगता है कि कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) के पास रणनीतिक सलाह के लिए विकेट के पीछे अब महेंद्र सिंह धोनी मौजूद नहीं है, तो उन्हें खुद ही टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) से पहले फाॅर्म में वापसी का तरीका ढूंढना होगा. धोनी की कप्तानी में कुलदीप काफी तेजी से आगे बढ़े थे, लेकिन विराट कोहली की कप्तानी में उनकी फाॅर्म में गिरावट आ गई, जिससे वह टेस्ट टीम से भी बाहर हो गए. टी20 वर्ल्ड कप के मुकाबले अक्टूबर-नवंबर में यूएई और ओमान में होने हैं.


पूर्व राष्ट्रीय चयनकर्ता वेंकटपति राजू ने से कहा, ‘श्रीलंका की पिचें धीमी होंगी और उसके (कुलदीप) लिए वापसी करना अच्छा होगा. आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) और टी20 वर्ल्ड कप के लिए संयुक्त अरब अमीरात की पिचें सूखी और स्पिनरों के मुफीद होने की संभावना है, तो इसमें कुलदीप मैच विजेता हो सकते हैं.’ कुलदीप को कप्तान के आत्मविश्वास की जरूरत है, लेकिन राजू चाहते हैं कि उत्तर प्रदेश का यह स्पिनर अपनी शीर्ष फाॅर्म में वापसी के लिए खुद ही हल निकाल ले.


धोनी ने बड़ी भूमिका निभाई

उन्होंने कहा, ‘लेकिन दुर्भाग्य से हम सभी जानते हैं कि किस तरह कप्तानों ने कुलदीप के आगे बढ़ने में बड़ी भूमिका निभाई है. वह हमेशा से कहता रहा है कि वह धोनी की कप्तानी में खेलने में बहुत सहज महसूस करता था, लेकिन धोनी हमेशा उसके लिए नहीं रहेगा, क्योंकि उसका करियर खत्म हो गया है. इसलिए उम्मीद करते हैं कि उसे ही इसका हल निकालना होगा.’

 


वह कभी रक्षात्मक गेंदबाज नहीं रहा

वेंकटपति राजू ने कहा, ‘वह अब भी बहुत शानदार गेंदबाज है. वह युवा है इसलिए, जब आपके पास इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने का अनुभव हो तो ध्यान केंद्रित करना पूरी तरह से उसी पर निर्भर करता है. वह हमेशा ही विकेट लेने वाला गेंदबाज रहा है. वह कभी भी रक्षात्मक गेंदबाज नहीं रहा.’ कुलदीप यादव को श्रीलंका दौरे के लिए टीम में जगह मिली है. वे वहां अच्छा प्रदर्शन कर वापसी करना चाहेंगे. मौजूदा आईपीएल सीजन के एक भी मुकाबले केकेआर ने उन्हें मौका नहीं दिया था.