हरियाणा: 3 महीने के बाद आज से खुले 9वीं-12वीं के विद्यार्थियों के लिए स्कूल, रोस्टर के हिसाब से बच्चों को बुलाया जाएगा स्कूल

 हरियाणा में लगभग तीन महीने के लंबे अंतराल के बाद शुक्रवार से कक्षा 9वीं से 12वीं के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोल दिए गए. सख्त COVID-19 प्रोटोकॉल के बीच खुले स्कूलों में पहले दिन बच्चों की संख्या बेहद कम रही, लेकिन जितने बच्चे स्कूल पहुंचे वो सभी बेहद खुश नजर आ रहे थे. स्कूलों ने विद्यार्थियों की संख्या के हिसाब से स्कूल खोलने और बंद होने का रोस्टर बनाया है. स्टाफ भी बच्चों के हिसाब से ही अलग-अलग समय पर आएगा.

सरकार ने स्कूलों में सैनिटाइजेशन और अन्य कार्यों के लिए 13 करोड़ रुपये की राशि जारी कर दी है. इस राशि से सैनिटाइजेशन, साबुन, टॉयलेट क्लीनर, थर्मल स्कैनर जैसे जरूरी सामान लिए जाएंगे. नौवीं से बारहवीं के स्कूलों का सैनिटाइजेशन हो चुका है, जबकि छठी से आठवीं के स्कूलों को संक्रमण मुक्त करने का कार्य जारी है.

रोस्टर के हिसाब से छात्रों को बुलाया गया था स्कूल

स्कूल शिक्षा विभाग ने प्रदेश स्तर पर केंद्रीयकृत समय सारिणी और रोस्टर नहीं बनाया था. स्कूल प्रिंसिपल और प्रबंधन समितियों को इसका जिम्मा सौंप दिया गया था. गुरुवार को स्कूल मुखिया ने समय सारिणी और रोस्टर को अंतिम रूप देते हुए शिक्षकों और बच्चों को नौ से बारह बजे के बीच स्कूल आने का समय दे दिया था.

अपने नाम लिखे डेस्क पर बैठेंगे बच्चे

इस बार स्कूल प्रबंधन ने कक्षाओं में हर डेस्क पर बच्चों के नाम लिख दिए हैं. बच्चे अपना नाम लिखे डेस्क पर ही बैठेंगे. तीन-चार दिनों तक बच्चों के स्कूल आने के ट्रेंड को देखा जाएगा. उसके बाद नई व्यवस्था शुरू की जाएगी. बच्चों के आवागमन के लिए अलग-अलग द्वार बनाए गए हैं. कोई बच्चा एक-दूसरे के नजदीक नहीं आएगा, न ही आपस में सामान का आदान-प्रदान करेंगे.वहीं राज्य में कक्षा 6वीं से 8वीं के छात्रों के लिए स्कूल 23 जुलाई से खोले जाएंगे.