विकेटकीपिंग का सबसे बड़ा रिकॉर्ड जो धोनी नहीं बना सके वो इस क्रिकेटर ने बना डाला, अब कभी टूटेगा भी नहीं!

 भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) की सीमित ओवर प्रारूप में विस्‍फोटक बल्‍लेबाज की पहचान रही. लेकिन उससे भी अलहदा रहा बतौर विकेटकीपर उनका अनूठा अंदाज. उनके रनआउट, उनकी फुर्ती, उनका अनुमान विकेट के पीछे सब नंबर एक रहता था. 15 अगस्‍त 2020 को अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट से संन्‍यास ले चुके धोनी ने अपने करियर में 90 टेस्‍ट मैच खेले, 350 वनडे मैचों में हिस्‍सा लिया तो 98 टी20 मुकाबले भी उनके खाते में दर्ज हुए. इन सभी में मिलाकर उन्‍होंने विकेट के पीछे बतौर विकेटकीपर कई बेमिसाल रिकॉर्ड भी कायम किए. लेकिन अगर हम आपको बताएं कि विकेटकीपिंग का सबसे बड़ा रिकॉर्ड धोनी ने नहीं, बल्कि किसी और क्रिकेटर ने बनाया है तो ये आसानी से हजम होने वाली बात शायद नहीं होगी. तो चलिए जान लीजिए इस रिकॉर्ड और उसे बनाने वाले विकेटकीपर के बारे में.

दरअसल, हम बात कर रहे हैं इंग्‍लैंड क्रिकेट टीम (England Cricket Team) के पूर्व दिग्‍गज बॉब टेलर (Bob Taylor) की. टेलर आज यानी 17 जुलाई 1941 को पैदा हुए थे. अब बात करते हैं महेंद्र सिंह धोनी की. धोनी ने अपने करियर में 131 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं. इनमें उन्‍होंने बतौर विकेटकीपर 364 कैच पकड़े तो विकेट के पीछे 57 स्‍टंप में भी उनका हाथ रहा. अब इनकी तुलना आप बॉब टेलर के आंकड़ों से करेंगे तो आपकों अपनी आंखों पर विश्‍वास नहीं होगा. वो इसलिए क्‍योंकि बॉब टेलर ने अपने प्रथम श्रेणी करियर में बतौर विकेटकीपर 1473 कैच पकड़े. इतना ही नहीं उनके नाम 176 स्‍टंप भी दर्ज हैं. इस तरह उनके नाम विकेट के पीछे कुल 1649 शिकार दर्ज हैं. इस मामले में दुनिया का कोई दूसरा विकेटकीपर उनके आसपास भी नहीं है. ये वो दौर था जब विकेटकीपर का फोकस बल्‍लेबाजी पर अधिक न होकर विकेट के पीछे मोर्चा संभालने पर होता था.

639 मैचों में किए विकेट के पीछे 1649 शिकार

दाएं हाथ के विकेटकीपर बल्‍लेबाज बॉब टेलर ने इंग्‍लैंड के लिए 57 टेस्‍ट खेले. इनमें उन्‍होंने 16.28 के औसत से 1156 रन बनाए. इनमें उच्‍चतम स्‍कोर 97 रनों का रहा और तीन अर्धशतक इस प्रारूप में उन्‍होंने लगाए. वहीं 27 वनडे में उन्‍होंने 13 की औसत से 130 रन बनाए. वनडे में उनका उच्‍चतम स्‍कोर नाबाद 26 रन है. टेस्‍ट करियर में उन्‍होंने 167 कैच और 7 स्‍टंप किए तो वनडे में उनके हिस्‍से में 26 कैच व 6 स्‍टंप आए. अब बात करते हैं उनके 28 साल के प्रथम श्रेणी करियर की. बॉब ने कुल 639 मुकाबले खेले. इनमें 16.92 की औसत से 12065 रन बनाए. इसमें एक शतक और 23 अर्धशतक थे. उन्‍होंने 333 लिस्‍ट ए मैचों में 14.84 के औसत से 2227 रन बनाए. वो भी एक अर्धशतक के साथ. लिस्‍ट ए में बॉब ने 345 कैच पकड़े तो स्‍टंप किया 75 खिलाडि़यों को.