नया GPS! दुकान, बाजार और अस्पताल के बारे में बताएगा उमंग ऐप, जानिए और क्या मिलेंगी इस पर नई सुविधाएं

 इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) ने हाल के दिनों में सरकारी सेवाओं की ऑनलाइन रूप से लोगों को तक पहुंचाने की पहल की है. इससे नागरिकों का जीवन आसान बनाने की कोशिश है. डिजिटल इंडिया कार्यक्रम की पहल को बढ़ाने के लिए और  ‘आत्मनिर्भर भारत’ की थीम को ध्यान में रखते हुए, MeitY ने मैप माई इंडिया के साथ एक समझौता किया है. इससे अब उमंग ऐप में मैप की सुविधा भी उपलब्ध होगी.

उमंग के मैप माई इंडिया मानचित्रों के साथ एकीकरण से, नागरिक एक बटन के क्लिक पर अपने आस पास के निकटतम स्थान पर सरकारी सुविधाएं, जैसे मंडियां, ब्लड बैंक और बहुत कुछ जानकारी प्राप्त कर सकेंगे. वे इसे मैप माई इंडिया द्वारा निर्मित भारत के सबसे विस्तृत और संवादात्मक सड़क और ग्राम स्तर के नक्शों पर भी देख सकेंगे.

मिलेंगी कई नई सुविधाएं

नागरिक उमंग ऐप और मैप माई इंडिया के बीच संपर्क के माध्यम से नेविगेशन के दौरान यातायात और सड़क सुरक्षा अलर्ट सहित स्थानों के लिए ड्राइविंग दूरी, दिशा-निर्देश और बारी-बारी से आवाज और दृश्य से दिशानिर्देश प्राप्त करने में सक्षम होंगे.

  • मेरा राशन – उमंग के माध्यम से, उपयोगकर्ता ‘निकटतम उचित मूल्य की दुकानों’ की पहचान और दिशा के बारे में पता कर सकते हैं क्योंकि मैप माई इंडिया एकीकृत मानचित्र पर पॉइंटर्स के रूप में दुकानें दिखाई देती हैं.
  • ई-नाम- उमंग के माध्यम से, ‘मंडी नियर मी’ सेवा उपयोगकर्ताओं को मानचित्र पर दिखाई गई पास की मंडियों को पहचानने और नेविगेट करने में मदद करेगी.
  • दामिनी – ‘दामिनी लाइटनिंग अलर्ट’ सेवा उपयोगकर्ताओं को आस-पास के क्षेत्रों का एक दृश्य दिखाकर बिजली गिरने की चेतावनी प्रदान करने के लिए है. जहां पिछले कुछ मिनटों में बिजली गिरी है. यह चेतावनी तंत्र मानचित्र पर बिजली गिरने की संभावना वाले स्थानों के बारे में जानकारी प्रदान करता है.

नागरिकों के लिए उपयोगिता को और बढ़ाने के लिए, मानचित्र की कार्यक्षमता शीघ्र ही कई और सेवाओं में सक्षम की जाएगी.

  • ईएसआईसी – उपयोगकर्ता ईएसआईसी केंद्रों जैसे अस्पतालों / औषधालयों को मानचित्र पर देख सकते हैं और उनके मार्ग के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं.
  • इंडियन ऑयल – यह सेवा आस-पास के गैस स्टेशनों के के खुदरा और वितरकों के साथ-साथ ईंधन भरने वाले स्टेशनों का पता लगाने के लिए है.
  • एनएचएआई: इसके माध्यम से उपयोगकर्ता यात्रा के दौरान टोल प्लाजा और टोल दरों की जानकारी देख सकते हैं.
  • राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) मानचित्र पर आस-पास के पुलिस स्टेशनों से संबंधित जानकारी प्रदान करता है.
  • प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (मेरी सड़क) उपयोगकर्ताओं को मैप माई इंडिया प्लेटफॉर्म पर सड़क का चयन करके क्षतिग्रस्त सड़कों (पीएमजीएसवाई के तहत) की शिकायतों को सही जगह पहुंचाने में मदद करेगी.

उमंग मोबाइल ऐप भारत सरकार का एकल, एकीकृत, सुरक्षित, मल्टी-चैनल, मल्टी-प्लेटफॉर्म, बहुभाषी, मल्टी-सर्विस मोबाइल ऐप है, जो उच्च प्रभाव वाली सेवाओं विभिन्न संगठन (केंद्र और राज्य) तक पहुंच प्रदान करता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2017 में उमंग ऐप की शुरूआत की थी.