Schools Reopening: जानिए किस राज्य में कब से खुल रहे हैं स्कूल और कॉलेज

 School Reopening News: देश में कोरोना की दूसरी लहर के थमने के बाद देश के कई राज्यों अनलॉक की ओर बढ़ रहे हैं. इसी क्रम में स्कूलो और कॉलेजों को खोलने की भी कवायद शुरू हो गई है. स्कूल जाने वाले छात्र यह जानना चाहते हैं कि स्कूल कब से खुलेंगे. सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते 30 जून तक के लिए सभी स्कूलों को बंद कर दिया था. इसके बाद से स्कूल अभी तक नहीं खुले हैं. लेकिन कई राज्य सरकारों ने स्कूलों को खोलने का निर्णय लिया है, आइये जानते हैं किस राज्य का स्कूलों और कॉलेजों को खोलने को लेकर क्या स्टेटस है..

दिल्ली

राज्य में फिर से स्कूल खोलने के लिए तीन फेज का प्लान तैयार किया गया है. 28 जून से शुरू हुई पहली फेज की टीचिंग एक्टिविटी में टीचर्स, व्हॉट्सएप के जरिए स्टूडेंट्स से कनेक्ट हो रहे हैं. 03 जुलाई से, जिन छात्रों के पास इंटरनेट और स्मार्टफोन या अन्य सुविधा नहीं है, उनकी सूची तैयार करने की शुरुआत की गई थी. दूसरा फेज 31 जुलाई तक चलेगा, जिसमें स्टूडेंट्स की मेंटली और इमोशनली हेल्थ के लिए काउंसलिंग प्रोसेस होगी. जबकि, तीसरे फेज में 2 अगस्त से कक्षा 9 से 12 तक की ऑनलाइन कक्षाएं शुरू होंगी.

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश सरकार ने यूपी बोर्ड से मान्यता प्राप्त स्कूलों को 1 जुलाई से कक्षा 1-8 के लिए फिर से खोलने के निर्देश दिए थे. स्कूल खुले रहेंगे, लेकिन फिजिकल क्लासेस नहीं होंगी. केवल शिक्षकों और स्कूल के कर्मचारियों को ही प्रशासनिक कार्य के लिए स्कूल में आने की परमिशन होगी.

बिहार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य में स्कूल-कॉलेजों को खोलने का फैसला लिया है. राज्य में अनलॉक-4 की घोषणा करते हुए सीएम नीतीश कुमार ने कहा था कि अब 11 वीं से ऊपर के शिक्षण संस्थानों को 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ खोले जाएंगे उन्होंने कहा था कियूनिवर्सिटी, सभी कॉलेज, तकनीकी शिक्षण संस्थान, सरकारी प्रशिक्षण संस्थान, 11 वीं और 12 वीं तक के स्कूल 50 प्रतिशत छात्रों की उपस्थिति के साथ खुलेंगे. साथ ही कहा कि शैक्षणिक संस्थानों के छात्र-छात्राओं, शिक्षकों और कर्मियों के लिए टीकाकरण की विशेष व्यवस्था होगी.

गुजरात

गुजरात सरकार ने कहा कि कक्षा 12 के छात्रों के लिए स्कूल और स्नातक और स्नाकोत्तर छात्रों के लिए कॉलेज 15 जुलाई से फिर से खोलने का फैसला किया है. लगभग 50 फीसदी छात्रों को ही कैंपस में आने की अनुमति दी जाएगी. गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने कहा, ‘छात्र स्वैच्छिक आधार पर स्कूल आकर कक्षाओं में भाग ले सकते हैं. छात्रों की उपस्थिति अनिवार्य नहीं होगी.’

महाराष्ट्र

महाराष्ट्र सरकार ने उन क्षेत्रों में स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला किया है जहां पिछले एक महीने में कोई सक्रिय COVID-19 का मामला सामने नहीं आया है. स्कूल शिक्षा विभाग की मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा कि स्कूलों को कक्षा 8 से 12 के छात्रों के लिए 15 जुलाई से ऑफलाइन कक्षाएं फिर से शुरू करने की अनुमति दी गई है. उन्होंने कहा, “राज्य के अंतिम तबके के बच्चों तक पहुंचने के लिए सह-शैक्षिक दृष्टिकोण रखना समय की आवश्यकता बन गई है.”

हरियाणा

हरियाणा सरकार ने शुक्रवार को घोषणा की कि 9वीं से 12वीं तक की कक्षाओं के लिए स्कूल 16 जुलाई से फिर से खुल जाएंगे और छात्रों को उनके माता-पिता की अनुमति से कक्षाओं में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी. एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि इसके अलावा कक्षा छह से आठ तक के विद्यार्थी भी 23 जुलाई से स्कूल में आ सकेंगे। उन्होंने हालांकि कहा कि छात्रों के लिए स्कूल आना अनिवार्य नहीं होगा क्योंकि ऑनलाइन कक्षाएं जारी रहेंगी. प्रवक्ता ने कहा कि स्कूल आने वाले विद्यार्थियों के लिए सामाजिक दूरी और अन्य नियम लागू होंगे. पांचवीं कक्षा तक के लिए स्कूल खोलने पर अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है.

कर्नाटक

कर्नाटक 19 जुलाई को राज्य भर के कॉलेजों को फिर से खोलने पर विचार कर रहा है, जिसमें 64% छात्रों और सरकारी और सहायता प्राप्त कॉलेजों के 85% कर्मचारियों को अब तक टीके की कम से कम एक खुराक मिली है. यह ऑफलाइन कक्षाओं में भाग लेने वाले छात्रों के लिए टीकाकरण अनिवार्य करने की भी योजना बना रहा है.