एक ही प्रीमियम में पति-पत्नी दोनों का बीमा, 4 हजार में शुरू करें पॉलिसी, मैच्योरिटी पर मिलेगा 20 लाख

 पोस्ट ऑफिस एक जॉइंट लाइफ एनडॉमेंट एस्योरेंस प्लान चलाता है. इसका नाम है युगल सुरक्षा. इसमें पति और पत्नी दोनों का एक साथ बीमा होता है. साधारण प्रीमियम के साथ पति और पत्नी दोनों को एक साथ लाइफ कवर मिलता है. इसमें न्यूनतम सम एस्योर्ड 20,000 रुपये और अधिकतम 50 लाख रुपये का है. 45 साल तक के व्यक्ति ही इस बीमा का लाभ ले सकते हैं. इससे ज्यादा उम्र के लोग यह पॉलिसी नहीं खरीद सकते. इस प्लान के लिए न्यूनतम उम्र की सीमा 21 साल रखी गई है.

युगल सुरक्षा पॉलिसी में मैच्योरिटी के साथ बोनस भी मिलता है. यह पॉलिसी पूरी तरह से केंद्र सरकार से सुरक्षा प्राप्त है, इसलिए जीवन के साथ-साथ पैसे भी सुरक्षित माने जाते हैं. यह पॉलिसी सबके लिए नहीं है, लेकिन ज्यादातर लोग इसे खरीद सकते हैं. जो लोग केंद्र सरकार, राज्य सरकार या अर्धसरकारी संगठन में काम करते हैं, वे इस पॉलिसी को ले सकते हैं. डॉक्टर, इंजीनियर, मैनेजमेंट कंसल्टेंट, सीए, वकील और बैंक में काम करने वाले लोग इस पॉलिसी को ले सकते हैं. इसके अलावा जो लोग मान्यता प्राप्त शिक्षा संस्थान में काम करते हैं, वे भी इस पॉलिसी को ले सकते हैं.

पॉलिसी की खासियत

युलग सुरक्षा Yugal suraksha पॉलिसी को कम से कम 5 साल के लिए लेना होता है. इस पॉलिसी का अधिकतम पॉलिसी टर्म 20 साल का है. यानि कम से कम 5 साल और अधिक से अधिक 20 साल के लिए यह प्लान खरीद सकते हैं. पॉलिसी जितने साल के लिए होगी, उतने साल तक प्रीमियम का भुगतान करना होगा. यह प्लान 20,000 से 50,00,000 रुपये तक के लिए ले सकते हैं. ग्राहक चाहे तो प्रीमियम हर महीने, तीन महीने पर, छमाही या सालाना भर सकता है. इसके लिए पॉलिसी लेते वक्त ही तय करना होगा कि प्रीमियम का भुगतान कैसे करना है.

साधारण भाषा में समझें

इसे साधारण भाषा में समझें. मान लीजिए ऋषभ जिनकी उम्र 32 साल है और उनकी पत्नी की उम्र 30 साल है, युगल सुरक्षा पॉलिसी लेते हैं. इसके लिए ऋषभ ने 10 लाख रुपये के सम एस्योर्ड की पॉलिसी ली है. ऋषभ ने पॉलिसी टर्म 20 साल रखा है. इसलिए उन्हें पॉलिसी के लिए 20 साल तक प्रीमियम चुकाना होगा. ऋषभ अगर मंथली प्रीमियम का चुनाव करते हैं तो उन्हें पहले साल 4,392 रुपये और दूसरे साल 4,297 रुपये का प्रीमियम भरना होगा. अगर ऋषभ सालाना प्रीमियम देना चाहते हैं तो उन्हें पहले साल 52,706 रुपये और दूसरे साल 51,571 रुपये देने होंगे. पहले साल का प्रीमियम जीएसटी के चलते थोड़ा ज्यादा आता है. पूरे पॉलिसी टर्म के दौरान ऋषभ को प्रीमियम के तौर पर कुल 10,32,558 रुपये जमा करने होंगे.

कितनी मिलता है रिटर्न

20 साल पूरे होने पर यह पॉलिसी मैच्योर हो जाएगी और ऋषभ को मैच्योरिटी का पैसा मिल जाएगा. इसके तहत ऋषभ को सम एस्योर्ड का 10 लाख, बोनस 10.40 लाख रुपये यानी कि कुल 20,40,000 रुपये मिलेंगे. इस पॉलिसी में डेथ बेनेफिट भी है. अगर पॉलिसी लेने के तुरंत बाद, 2 साल बाद, 5 साल बाद या 15 साल बाद ऋषभ या उनकी पत्नी, दोनों में से कोई एक दुनिया छोड़ कर चला जाता है, तो दूसरे जीवनसाथी को डेथ बेनेफिट का लाभ मिलेगा. इसमें सम एस्योर्ड और बोनस का लाभ मिलता है. मान लें कि 5 साल बाद ऋषभ या उनकी पत्नी में से कोई एक इस दुनिया में नहीं रहते हैं तो सम एस्योर्ड के रूप में 10 लाख और बोनस के रूप में (5 साल का बोनस) 2.60 लाख रुपये, यानी कुल 12,60,000 रुपये मिलेंगे. पॉलिसी जितने साल तक चलेगी, बोनस का भुगतान उतना ही ज्यादा होगा.

और भी कई फायदे

पॉलिसी के दौरान अगर पति और पत्नी दोनों की मृत्यु हो जाए, तो सम एस्योर्ड का भुगतान नॉमिनी को कर दिया जाता है. पॉलिसी चलाने के 3 साल बाद उसे सरेंडर भी कर सकते हैं. इस पॉलिसी पर लोन की सुविधा भी मिलती है. 3 साल प्रीमियम भरने के बाद लोन लेने की सुविधा मिल जाती है. अगर पॉलिसी किसी कारणवश बीच में ही बंद हो जाए तो उसे रिवाइवल भी करा सकते हैं. अगर 6 महीने तक प्रीमियम नहीं चुकाया तो पॉलिसी लैप्स हो जाती है जिसे फिर से चालू कराना होता है.