टी20 वर्ल्ड कप से पहले वेस्टइंडीज ने ऑस्ट्रेलिया के प्रदर्शन को किया ‘आधा’, नहीं हाेगा विश्वास

 नई दिल्ली. वेस्टइंडीज ने पांचवें और अंतिम टी20 (WI vs AUS) में ऑस्ट्रेलिया को 16 रन से हराया. इसके साथ टीम ने सीरीज पर 4-1 से कब्जा कर लिया. वेस्टइंडीज की जीत को इस लिहाज से भी महत्वपूर्ण माना जा सकता है, क्योंकि इस साल अक्टूबर-नवंबर में यूएई में टी20 वर्ल्ड कप होना है. विंडीज ने सबसे ज्यादा दो बार खिताब जीता है. दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया की टीम अब तक वर्ल्ड कप का खिताब नहीं जीत सकी है.


पांच मैचों की सीरीज में वेस्टइंडीज के खिलाड़ियाें ने जहां 58 छक्के लगाए. वहीं ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी सिर्फ 26 छक्के लगाए सके. यानी ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी विंडीज के आधे तक भी नहीं पहुंच सके. आंद्रे रसेल और एविल लुइस ने सबसे ज्यादा 11-11 छक्के लगाए. वहीं ऑस्ट्रेलिया की ओर से मिचेल मार्श ने सबसे अधिक 10 छक्के जड़े. विंडीज की टीम ने सीरीज में दो बार 190 रन से अधिक का स्कोर बनाया. ऑस्ट्रेलिया की टीम एक बार भी ऐसा नहीं कर सकी.


लुइस ने 34 गेंद पर 79 रन बनाए

अंतिम मैच में पहले एविन लुइस ने आक्रामक बल्लेबाजी की. पहले बल्लेबाजी करते हुए कैरेबियाई टीम ने निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट पर 199 रन बनाए. जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम 183 रन ही बना सकी. वेस्टइंडीज की तरफ से लुइस ने 34 गेंदों पर 79 रन बनाए. 4 चौके और 9 छक्के लगाए. जबकि कॉट्रेल और रसेल ने 3-3 विकेट लिए.

ऑस्ट्रेलिया की टीम ग्रुप ऑफ डेथ में

आईसीसी ने टी20 वर्ल्ड कप के लिए (T20 World Cup 2021) ग्रुपों का ऐलान कर दिया है. सुपर 12 में 2 ग्रुप (T20 World Cup Groups) बनाए गए हैं. ग्रुप-2 में भारत, पाकिस्तान, न्यूजीलैंड और अफगानिस्तान की टीमें हैं. ग्रुप-1 को ग्रुप ऑफ डेथ कहा जा रहा है. इस ग्रुप में ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और वेस्टइंडीज की टीमें हैं. पिछले एक साल के रिकॉर्ड को देखें तो ऑस्ट्रेलिया ने 16 में से 11 टी20 मैच गंवाए हैं और टीम 5 मैच जीत सकी है. ऐसे में उसके लिए फॉर्म हासिल करना आसान नहीं रहने वाला.

 


सीनियर खिलाड़ियों ने विंडीज का हौसला बढ़ाया

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 मैचों की सीरीज की बात करें तो विंडीज के सीनियर खिलाड़ियों ने जीत में अहम योगदान दिया है. आंद्रे रसेल, क्रिस गेल और शिमराेन हेटमायर ने अर्धशतक लगाया. ड्वेन ब्रावो और आंद्रे रसेल ने गेंदबाजी में अच्छे हाथ दिखाए. ये खिलाड़ी टी20 वर्ल्ड कप के लिए अहम साबित हो सकते हैं. यह जीत इसलिए भी अहम है, क्योंकि कप्तान कायरन पोलार्ड चोट के कारण एक भी मैच में नहीं उतरे. वे टी20 के बड़े खिलाड़ी माने जाते हैं.