Punjab Dispute: आसान नहीं सिद्धू की राह! सुनील जाखड़ ने कल बुलाई इमरजेंसी मीटिंग, बोले- पास करेंगे प्रस्ताव

 पंजाब प्रदेश अध्यक्ष (PCC प्रमुख) पद के लिए सिद्धू की राह अभी भी आसान नहीं है. सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) और उनके समर्थक सिद्धू को कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए जाने के पक्ष में अब भी नहीं है. जहां कल राज्य के सीएम अमरिंदर सिंह के फार्म हाउस पर रात भर मीटिंग चली, वहीं आज दिल्ली में अमरिंदर सिंह की टीम के कांग्रेस नेताओं ने एक बैठक की. इन सबके बीच कांग्रेस आलाकमान की कोशिश है कि सिद्धू की ताजपोशी से पहले सीएम अमरिंदर सिंह को मना लिया जाए.

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ (Sunil Jakhar) ने कल चंडीगढ़ में पार्टी विधायकों और जिलाध्यक्षों की एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई है. उन्होंने कहा कि इस मीटिंग में एक प्रस्ताव पारित किया जाएगा और पार्टी प्रमुख को भेजा जाएगा. इसके बाद पार्टी अध्यक्ष पंजाब के बारे में जो भी निर्णय लेंगी, उसका सभी सम्मान करेंगे. वहीं दूसरी ओर आज कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू पटियाला में राज्य मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा सहित पार्टी के छह विधायकों के साथ विधायक मदनलाल के आवास पहुंचे. बताया जा रहा है कि सिद्धू यहां कांग्रेस में जारी विवाद को खत्म करने के लिए पहुंचे. कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के विवाद के कारण इनका नेताओं से मुलाकात का दौर लगातार जारी है.

शनिवार को जाखड़ से मिले थे सिद्धू

इससे पहले कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रमुख सुनील जाखड़ से शनिवार को मुलाकात की थी. यह मुलाकात ऐसे समय में हुई जब क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू के कांग्रेस की राज्य इकाई का अगला अध्यक्ष बनने की अटकलें तेज हैं. यह मुलाकात आधे घंटे से ज्यादा समय तक चली और इसके बाद सिद्धू ने जाखड़ को बड़ा भाई और मार्गदर्शक बताया. वहीं, जाखड़ ने सिद्धू को सक्षम व्यक्ति करार दिया. एक सहयोगी ने बताया कि सिद्धू पटियाला स्थित अपने आवास से निकले और क़रीब 65 किलोमीटर की यात्रा कर क़रीब 10 बजकर 45 मिनट पर जाखड़ के पंचकूला स्थित आवास पहुंचे. जाखड़ से मिलने के बाद सिद्धू ने चंडीगढ़ में कुछ मंत्रियों समेत अन्य नेताओं से मुलाकात की. उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू और पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल सिंह से मुलाकात की.