हुंडई ला रही है अब तक की सबसे छोटी SUV, डिजाइन और फीचर्स देख चौंक जाएंगे आप

 आगामी हुंडई माइक्रो एसयूवी जिसे इसके आंतरिक कोडनेम, AX 1 से जाना जाता था, उसे आने वाले महीनों में प्रोडक्शन में एंट्री करने पर हुंडई कैस्पर कहा जाएगा. यह नई एसयूवी सबसे पहले कोरिया में बिक्री के लिए जाएगी, इसके बाद भारत जैसे अन्य उभरते बाजारों में बिक्री होगी. हुंडई ने कोरिया में कैस्पर नाम दर्ज किया है और कई रिपोर्ट्स के अनुसार, कोरियाई बाजार में AX1 माइक्रो-एसयूवी का मार्केटिंग नाम होगा.

फिलहाल ये नहीं बताया गया है कि, कोरिया में माइक्रो-एसयूवी को कैस्पर कहा जाएगा या नहीं. लेकिन हुंडई अपनी कारों को बाजार के अनुसार अलग-अलग नाम देने के लिए जानी जाती है; उदाहरण के लिए, कुछ बाजारों में क्रेटा को ix25 के रूप में बेचा जाता है, जबकि कुछ देशों में वर्ना को सोलारिस या एक्सेंट भी कहा जाता है.

इसी तरह, क्षेत्र के आधार पर कैस्पर (AX1) के अलग-अलग मार्केटिंग नाम हो सकते हैं. सूत्रों के अनुसार सितंबर तक इसका ग्लोबल खुलासा किया जाएगा तो वहीं इसके बाद ही इसे दूसरे मार्केट और भारत में लॉन्च किया जाएगा. कैस्पर हुंडई की सबसे छोटी एसयूवी होगी, यानी यह सब-फोर-मीटर वेन्यू कॉम्पैक्ट एसयूवी से छोटी होगी. वाहन हुंडई के K1 कॉम्पैक्ट कार प्लेटफॉर्म पर आधारित होगा जो हमारे बाजार में ग्रैंड i10Nios और सैंट्रो को भी रेखांकित करता है.

गाड़ी में क्या होगा खास

हुंडई कैस्पर 3,595mm लंबी, 1,595mm चौड़ी और 1,575mm ऊंची होगी. इसका मतलब है कि हुंडई की सबसे छोटी एसयूवी थोड़ी छोटी और संकरी होगी, लेकिन इसकी सबसे छोटी पेशकश सैंट्रो हैचबैक से लंबी होगी, जो 3,610mm लंबी, 1,645mm चौड़ी और 1,560mm ऊंची है.

गाड़ी को युवाओं को टारगेट कर बनाया जा रहा है. कैस्पर में 1.2-लीटर, चार-सिलेंडर एस्पिरेटेड इंजन दिया जाएगा जो ग्रैंड i10 Nios (जहां यह 83hp और 114Nm का उत्पादन करता है) दिया गया है. कोरियाई कार निर्माता अपनी लागत को कम रखने के लिए सैंट्रो के 1.1-लीटर, तीन-सिलेंडर पेट्रोल इंजन के साथ माइक्रो-एसयूवी के निचले वेरिएंट भी पेश कर सकता है.

हुंडई कैस्पर की सबसे सीधी प्रतिद्वंद्वी टाटा एचबीएक्स माइक्रो-एसयूवी होगी. इसके अतिरिक्त, इसे मारुति सुजुकी इग्निस और महिंद्रा केयूवी100 जैसी कुछ अन्य हाई-राइडिंग हैचबैक से भी प्रतिस्पर्धा देखने को मिलेगी.