20 साल बाद हर महीने चाहिए 1.5 लाख की कमाई, जानिए अभी कितना करना होगा निवेश

 म्यूचुअल फंड में निवेश जोखिम भरा काम है, लेकिन कोई व्यक्ति लंबे दिनों के लिए पैसा लगता है तो जोखिम बहुत हद तक कम हो जाता है. टैक्स एक्सपर्ट बताते हैं कि बैंक एफडी, पीपीएफ, पोस्ट ऑफिस आरडी आदि से कमाई कर सकते हैं, लेकिन इन स्कीम से महंगाई को मात नहीं दी जा सकती. इन स्कीम में जिस दर से ब्याज मिलता है, उससे ज्यादा महंगाई की दर होती है. इसलिए सेविंग पर ज्यादा कमाई के लिए इक्विटी फंड में पैसा लगाया जा सकता है. यहां इस बात का ध्यान रखना होगा कि इक्विटी में भी तभी कमाई है जब उसमें 15 साल से ज्यादा अवधि के लिए निवेश किया जाए.

15 साल के लिए पैसे का निवेश करते हैं तो जमा राशि पर 10-12 फीसद का सालाना रिटर्न उम्मीद कर सकते हैं. यह दर महंगाई दर को निपटाने के लिए काफी है बल्कि 4-5 परसेंट तक की कमाई जमा भी होती रहेगी. जो लोग अगले 20 साल में रिटायर होने वाले हैं, उन्हें अभी से प्लानिंग करनी चाहिए और उस वक्त के खर्च का ध्यान रखकर निवेस के साधनों पर गौर करना चाहिए. ध्यान इस बात का होना चाहिए कि नौकरी से रिटायर होंगे तो हाथ में एक फिक्स मंथली इनकम कैसे आएगी. यह फंड तब के लिए तैयार करना है जब उम्र 40 साल की हो जाएगी और रिटायरमेंट के दहलीज पर हम पहुंचते जाएंगे.

महंगाई दर का रखें ध्यान

इस पूरी प्लानिंग के बारे में सेबी रजिस्टर्ड टैक्स एक्सपर्ट जितेंद्र सोलंकी ‘मिंट’ को बताते हैं, जब भी रिटायरमेंट फंड की प्लानिंग करें तो हमेशा ध्यान में महंगाई दर को रखें. आज की तारीख में एक मध्यमवर्गीय परिवार को हर महीने 40,000 रुपये घर के खर्च के लिए चाहिए होते हैं. 20 साल बाद महंगाई दर का अंदाजा लगाएं तो यह 6-7 परसेंट तक जा सकती है. इस लिहाज से आज का 40,000 रुपये का खर्च 20 साल बाद 1.25 लाख या 1.50 लाख तक पहुंच सकता है. यह दर एसबीआई म्यूचुअल फंड कैलकुलेटर के हिसाब से है. इस हिसाब से 20 साल बाद किसी व्यक्ति को सवा लाख से डेढ़ लाख रुपये की जरूरत होगी जो हर महीने खर्च के लिए चाहिए होगा.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

इस खर्च को पूरा करने के लिए क्या योजना बनाई जाए कि 20 साल बाद आर्थिक तंगी न हो? अभी कितनी रकम का निवेश किया जाए कि 20 साल बाद मजे से खर्च चल सके? इस बारे में MyFundBazaar के सीईओ और संस्थापक विनित खंडारे ने ‘मिंट’ से कहा, अगर 50 लाख रुपये का निवेश करें और यह 20 साल के लिए हो, निवेशक उस वक्त 1.5 लाख रुपये की कमाई चाहे और रिटर्न की उम्मीद 10-12 परसेंट तक करें तो अच्छी रकम जमा हो सकती है. 20 साल बाद 50 लाख का निवेश लगभग 3.6 करोड़ के आसपास होगा. अगर थोड़ा और निवेश बढ़ा दें तो यह 5.3 करोड़ तक जा सकता है. उसके बाद एनुअल विड्रॉल रेट 4 परसेंट भी रहता है तो हम 1.2 लाख से 1.7 लाख रुपये तक की कमाई की उम्मीद कर सकते हैं.

ये फंड साबित हो सकते हैं फायदेमंद

यह कमाई 1.5 लाख रुपये के खर्च की औसत होगी. इसलिए अभी से 50 लाख रुपये का निवेश करना होगा तब 20 साल बाद 1.5 लाख की कमाई होगी. इक्विटी फंड में 50 लाख रुपये का निवेश कर लमसम 1.25 लाख से 1.5 लाख रुपये आराम से पाए जा सकते हैं. यह मंथली इनकम होगी. इसके लिए एचडीएफसी बैलेंस्ड फंड और आईसीआईसीआई बैलेंस्ड एडवांटेज फंड का सहारा लिया जा सकता है. ये दोनों अच्छे विकल्प साबित हो सकते हैं. इसी तरह कोई निवेशक चाहे तो आदित्य बिरला सन लाइफ इक्विटी एडवांटेज और एसबीआई फ्लेक्सी कैप में भी पैसा जमा लगा सकता है.