IND vs SL: पृथ्वी शॉ सिर पर गेंद लगने से घायल, मैच के बाद बोले- सुन्न हो गया, साफ दिख नहीं रहा था

 भारत (Indian Cricket Team) के युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) ने श्रीलंका (Sri Lanka) के खिलाफ पहले वनडे में ताबड़तोड़ बैटिंग की. लेकिन इस दौरान उनके हेलमेट पर गेंद लगी और इसके बाद वे जल्दी ही आउट हो गए. मैच के बाद पृथ्वी शॉ ने खुलासा किया कि गेंद लगने से वे कुछ देर के लिए सुन्न हो गए थे. उन्हें साफ दिख भी नहीं रहा था. उन्हें मैदान छोड़ देना चाहिए था. शॉ ने पहले वनडे में 24 गेंद में नौ चौकों से 43 रन की पारी खेली. उन्होंने कप्तान शिखर धवन के साथ मिलकर भारत को 58 रन की तूफानी शुरुआत दी थी. पहले पांच ओवर के दौरान उन्होंने जिस अंदाज में बैटिंग की उससे भारत की जीत और जीत का तरीका दोनों तय हो गए थे. टीम इंडिया ने पहला वनडे 80 गेंद बाकी रहते सात विकेट से जीता. श्रीलंका ने पहले बैटिंग करते हुए नौ विकेट पर 262 रन बनाए थे. इसके जवाब में भारत ने तीन विकेट पर 263 रन बनाकर मैच अपने नाम कर लिया.

पृथ्वी शॉ को उनकी बैटिंग के लिए मैन ऑफ दी मैच चुना गया. उन्होंने पोस्ट मैच प्रजेंटेशन में हेलमेट पर गेंद लगने के सवाल पर कहा, ‘अब ठीक हूं. थोड़ा बहुत दर्द है लेकिन ठीक है. गेंद लगने के बाद थोड़ा सुन्न था और साफ दिख नहीं रहा था. सिर पर गेंद लगने के बाद फोकस हट गया था. मुझे क्रीज छोड़ देनी चाहिए थी. आगे से मैं ध्यान रखूंगा.’ हेलमेट पर गेंद लगने के बाद आजकल कन्कशन टेस्ट जरूरी होता है. इसके तहत फिजियो खिलाड़ी की जांच करता है और अगर उसे कुछ भी दिक्कत होती है तो वह मैच से हट सकता है.

आईसीसी के नियम कन्कशन रिप्लेसमेंट की अनुमति भी देते हैं. लेकिन श्रीलंका के खिलाफ मैच के दौरान शॉ ने फिजियो की जांच के दौरान खुद को सही बताया था और बैटिंग जारी रखने का फैसला किया था. उन्हें पांचवें ओवर में दुश्मंता चमीरा की गेंद से चोट लगी थी.

आउट होने से निराश थे पृथ्वी

इस चोट के बाद उन्होंने धनंजय डिसिल्वा की गेंद खेली और आउट हो गए थे. बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में उनका विकेट गिरा था. इस बारे में शॉ ने कहा कि वे जिस तरह का शॉट लगाकर आउट हुए उससे काफी निराश थे. लेकिन सिर पर गेंद लगने के बाद फोकस खो बैठे थे. उन्होंने तूफानी बैटिंग के सवाल पर कहा, ‘मैं कुछ सोचकर गया था और बाउंड्री तलाश रहा था. एक बल्लेबाज के रूप में मैं स्कोरबोर्ड को चलाए रखना चाहता हूं. पहली पारी में पिच अच्छी थी और दूसरी पारी में यह बेहतर हो गई. और मुझे तेज गेंदबाजों का सामना करना पसंद है.’