हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड समेत इन राज्यों में भारी बारिश की संभावना, जानें IMD का लेटेस्ट अपडेट

 देशभर में मानसून के आने के बाद अगले एक हफ्ते तक उत्तर भारत में भारी बारिश की संभावना है. मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि पूरे उत्तर भारत में 18 से 21 जुलाई तक भारी बारिश होगी, जबकि पश्चिमी क्षेत्रों में यह हालात 23 जुलाई तक बने रहेंगे.मौसम विभाग के मुताबिक, पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र (जम्मू, कश्मीर, लद्दाख, गिलगित, बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड) में आगे भी भारी बारिश जारी रहेगी. वहीं, उत्तर-पश्चिम भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, यूपी और उत्तरी मध्यप्रदेश में भी 18 से 21 जुलाई तक जबरदस्त बारिश होगी.

आईएमडी के मुताबिक हाल की उपग्रह चित्र जम्मू और कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम उत्तर प्रदेश, हरियाणा चंडीगढ़, और दिल्ली, उत्तर पश्चिमी मध्य प्रदेश, पूर्वोत्तर राजस्थान, उत्तरी कोंकण, बिहार के कुछ हिस्सों में तीव्र या बहुत तीव्र संवहन दिखाती है. उप हिमालयी पश्चिम बंगाल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, असम, मेघालय, मिजोरम और त्रिपुरा और पड़ोसी क्षेत्रों में बारिश के संभावना है. साथ ही आईएमडी ने कहा कि अगले 2-3 घंटों के दौरान गरज और बिजली गिरने के साथ मध्यम से तीव्र बारिश की संभावना है. दिल्ली के कुछ हिस्सों में बारिश, जनपथ रोड और फिरोजशाह रोड पर सोमवार सुबह से ही बारिश हो रही है.

 

दिल्ली के कई इलाकों में जमकर बारिश

मुंबई में भारी बारिश के बाद चेंबूर और विक्रोली में लैंडस्लाइड में 22 लोगों की मौत हो गई. यहां 5 मकान भी ढह गए. वहीं, दिल्ली में भी कई इलाकों में सोमवार को जमकर बारिश हुई. लंबे समय बाद हुई झमाझम बारिश के बाद लोगों को गर्मी से राहत मिली.इस साल दिल्ली समेत कई अन्य जगहों पर मॉनसून काफी देर से आया है. मौसम विभाग 15 जून से ही मॉनसून के आने की भविष्यवाणी कर चुका था, लेकिन कई बार उसके अनुमान गलत साबित हुए. दिल्ली को लेकर की गई भविष्यवाणी गलत होने के चलते मौसम विभाग ने पिछले दिनों अपनी चूक मानी थी. विभाग ने माना था कि बारिश के बारे में सही जानकारी देने में उनसे चूक हुई है. इस गलती को उन्होंने दुर्लभ और असामान्य बताया था.