जोफ्रा आर्चर की 50% गेंदें छू भी नहीं सके बल्लेबाज, टीम की जीत के साथ इंजरी से की जबरदस्त वापसी

 टीम इंडिया से टेस्ट सीरीज के दिन अब करीब हैं. और, उसे देखते हुए इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने अपने कमबैक के संकेत दे दिए हैं. आर्चर ने इंजरी से वापसी करते हुए 18 जुलाई को पहला मैच खेला और इसमें टीम की जीत के साथ वापसी की. ये मुकाबला T20 का था, जो कि इंग्लैंड में खेले जा रहे T20 ब्लास्ट टूर्नामेंट में खेला गया था. मुकाबला ससेक्स और केंट के बीच था, जिसमें आर्चर ससेक्स की टीम का हिस्सा था. ससेक्स ने इस मैच को 4 विकेट से जीता.

मुकाबले में पहले केंट ने बैटिंग की और निर्धारित 20 ओवरों में 7 विकेट पर 130 रन बनाए. आर्चर की अगुवाई में ससेक्स के गेंदबाजों के आगे केंट का कोई बल्लेबाज अर्धशतक नहीं जड़ सका. केंट की टीम से दो बड़े स्कोर 31 रन और 30 रन के रहे, जिसके बूते वो ससेक्स के सामने 131 रन का लक्ष्य रख सका. फटाफट क्रिकेट में ये कोई बड़ा टोटल नहीं है और केंट को इतने कम स्कोर पर रोकने में ससेक्स के गेंदबाजों का पूरा जोर दिखा, जिसमें जोफ्रा आर्चर की भूमिका भी सराहणीय रही.

इंजरी से लौटे आर्चर का मैदान पर दिखा असर

वो कहते हैं न कि जरूरी नहीं कि विरोधी के विकेट चटकाकर ही हार के मुंह में धकेला जाए. कभी कभी ये काम गेंद से दबाव बनाकर भी हो जाता है. एक छोर से दबाव बनता है तो इससे दूसरे गेंदबाजों को विकेट मिलता है. केंट के खिलाफ मैच में ससेक्स के लिए आर्चर ने वही रोल प्ले किया. इंजरी को ध्यान में रखते हुए उन्होंने इस मैच में बस 3 ओवर ही डाले. पहले दो ओवर में तो वो थोड़े महंगे रहे और 20 रन दे डाले. लेकिन 19वें ओवर के तौर पर जब अपना तीसरा ओवर डालने आए तो इकॉनमी को दुरुस्त कर लिया. मैच में उनकी डाली 18 गेंदों में से 9 को तो केंट के बल्लेबाज छू भी नहीं सके. यानी उन्होंने 3 ओवर में 9 गेंदें डॉट फेंकी. इस मैच के जरिए क्रिकट फील्ड पर आर्चर मई के बाद पहली बार दिखे हैं. मई में काउंटी चैंपियनशिप के मैच में उनकी कोहनी इंजर्ड हो गई थी, जिसके बाद उन्हें सर्जरी करानी पड़ी थी.

आर्चर की टीम ने 17 गेंद पहले मारा मैदान

अब ससेक्स के सामने 131 रन का लक्ष्य था, जिसे उसने 18वें ओवर की पहली गेंद पर ही 6 विकेट खोकर हासिल कर लिया और मुकाबला 17 गेंद पहले ही अपनी झोली में डाल लिया. ससेक्स की इस जीत के हीरो रवि बोपारा चुने गए, जिन्होंने गेंद से 3 विकेट लेने के बाद बल्ले से भी 19 रन बनाए. लेकिन इस हीरो के साथ जोफ्रा आर्चर की वापसी भी जीत वाली रही है. उम्मीद है कि आर्चर जैसे जैसे कुछ मैच और खेलेंगे अपने लय में लौटेंगे और इस तरह वो भारत के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए खुद को तैयार कर सकेंगे.