क्रिकेट के लिए राशिद खान ने दिया बड़ा बलिदान, 5 साल में सिर्फ 25 दिन ही घरवालों के साथ बिताए

 राशिद खान (Rashid Khan) ने काफी कम उम्र में ही अपना नाम दुनिया के बेहतरीन क्रिकेटरों में शामिल करवा लिया है. अफगानिस्तान का यह मिस्ट्री स्पिनर टी20 में खतरनाक गेंदबाजों में गिना जाता है. अफगानिस्तान ने विश्व पटल पर जो मुकाम आज हासिल किया है उसमें बड़ा योगदान राशिद का भी रहा है. वह सिर्फ रन नहीं रोकते हैं बल्कि विकेट भी निकालते हैं. अपनी इसी काबिलियत के कारण वह दुनिया भर की टीमों के चहेते हैं और इसलिए दुनिया की तमाम टी20 लीगों में उन्हें खरीदने की होड़ सी लगी रहती है.

इसलिए राशिद पूरे साल भर व्यस्त रहते हैं. कभी आईपीएल में तो कभी सीपीएल में तो कभी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में. अपने सपने के लिए राशिद ने काफी बलिदान दिए हैं जिसमें से एक है अपने परिवार से दूर रहना. तमाम प्रतिबद्धाओं के चलते उन्हें अपने घर पर रहने परिवार से बिताने का कम समय मिलता है. बीते पांच वर्षों में राशिद ने अपने घर में काफी कम समय बिताया है और इस बात का खुलासा खुद उन्होंने किया है.

5 वर्षों में सिर्फ 25 दिन रहे घर

राशिद ने बताया है कि वह बीते पांच वर्षों में सिर्फ 25 दिन ही अपने घर पर रुके हैं. राशिद ने Guardian.co.uk से बात करते हुए कहा, “मैं बीते पांच वर्षों में सिर्फ 25 दिन ही अपने घर पर रुका हूं. मेरे पास अपनी उपलब्धियों का जश्न घर वालों के साथ मनाने का समय नहीं मिला क्योंकि मैं काफी व्यस्त था. मैं अपनी उपलब्धियां भूल गया और कई बार इससे दुख पहुंचता है. मुझे परिवार के साथ समय बिताने का समय नहीं मिलता, लेकिन यह मेरे करियर की शुरुआत थी इसलिए मुझे संघर्ष तो करना पड़ेगा.”

घर में इंटरनेशनल मैच न खेलने का अफसोस

राशिद को अफगानिस्तान का प्रतिनिधित्व करने में गर्व महसूस होता है लेकिन उन्हें एक बात का अफसोस है कि वह अभी तक अपने घर में इंटरनेशनल मैच नहीं खेले हैं. उनको उम्मीद है कि अफगानिस्तान में जब इंटरनेशनल मैच होगा तो कई लोग देखने आएंगे. उन्होंने कहा, “मैं जहां भी जाता हूं देखता हूं कि इंटरनेशनल खिलाड़ी अपने घर पर दर्शकों के सामने खेल रहे हैं, उन्हें काफी प्यार मिल रहा है. हम भी अपने देश में यही चाहते हैं. वह लोग क्रिकेट को प्यार करते हैं. हमें घर में सीरीज खेलनी है और यह काफी बड़ी होगी. एक भी जगह खाली नहीं होगी.”