IND vs SL: टीम इंडिया दूसरे वनडे की प्लेइंग इलेवन को लेकर उठाएगी बड़ा कदम, सीरीज जिताएंगे ये 11 खिलाड़ी!

 श्रीलंका (Sri Lanka) के खिलाफ पहले वनडे का मैदान मारा जा चुका है. कोलंबो (Colombo) की पहली लड़ाई भारत के नाम रही है. धवन के 11 शूरवीरों ने अपने श्रीलंकाई विरोधियों की पहले वनडे में अच्छे से खबर ली. अब कुछ वैसा ही हाल उनका दूसरे वनडे में भी करने का है ताकि 3 वनडे की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त ली जा सके. सीधे शब्दों में कहें तो दूसरे वनडे में जीत से टीम इंडिया (Team India) का सीरीज पर कब्जा हो जाएगा. इस इरादे को अमलीजामा पहनाने के लिए भारतीय थिंक टैंक के पास बड़ा सवाल प्लेइंग इलेवन (Playing XI) को लेकर है.

क्या भारत अपने उन्हीं 11 खिलाड़ियों के साथ मैदान पर उतरना चाहेगा, जिन्होंने पहले वनडे में दम दिखाते हुए जीत का सेहरा पहना था. या फिर जीत वाली टोली में कुछ बदलाव चाहेगा. भारत ने पहला वनडे 7 विकेट से 80 गेंद शेष रहते जीता था. उस मैच में श्रीलंका ने पहले बैटिंग करते हुए भारत के सामने 263 रन का लक्ष्य रखा था, जिसे उसने शिखर धवन और इशान किशन के अर्धशतकों के दम पर 36.4 ओवर में ही हासिल कर लिया था.

दूसरे वनडे में कितना बदला होगा बैटिंग ऑर्डर?

अब सवाल है कि टीम बदलेगी क्या? पहले वनडे में कप्तान शिखर धवन और पृथ्वी शॉ ने टीम को जोरदार शुरुआती दिलाई. मतलब ये कि ओपनिंग ऑर्डर में तो कुछ चेंज होने नहीं जा रहा. मिडिल ऑर्डर में मनीष पांडे ने अपनी बल्लेबाजी से थोड़ा निराश जरूर किया लेकिन टीम मैनजमेंट उन्हें एक मौका दे सकती है. इशान किशन ने जो किया वो पूरी दुनिया ने देखा वहीं बल्लेबाजी क्रम में सूर्यकुमार यादव की 20 गेंदों वाली 31 रनों की तेज तर्रार डेब्यू इनिंग भी हर किसी ने देखी. कुल मिलाकर बैटिंग ऑर्डर के बदलने की संभावना कम है.

गेंदबाजी में भी बदलाव के आसार कम

गेंदबाजी और ऑलराउंडर्स के मोर्चे पर पंड्या ब्रदर्स के खेल चलता रहेगा. उप-कप्तान भुवनेश्वर पहले वनडे की तरह यहां भी टीम की गेंदबाजी लीड करेंगे. कुल-चा यानी कुलदीप और चहल की जोड़ी पहले मैच में जमी है तो जाहिर है उसे मौके मिलेंगे. यानी इन मोर्चों पर भी बदलाव के आसार न के बराबर नजर आ रहे हैं.

दूसरे वनडे के लिए टीम इंडिया की संभावित प्लेइंग XI

शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, सूर्यकुमार यादव, इशान किशन, मनीष पांडे, हार्दिक पंड्या, क्रुणाल पंड्या, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, युजवेद्र चहल, दीपक चाहर