3 ननदों और भाभी ने खाया एक साथ ज़हर, कारण जानकार रह जायेंगे दंग आप भी, परिवार में थीं तीन बेटियां, दो की हुई थी शादी

 Four Women Ate Celphos Pills Death of Three Sister In Law In Sirohi Rajasthan - Sakshi Samacharपुष्पा बाएं शकुंतला और उषा की हॉस्पिटल ले जाते वक्त मौत हो गई।
  • नदी के पास बेहोशी की हालत में मिली तीनों बहनें
  • परिवार में थीं तीन बेटियां, दो की हुई थी शादी
  • मायके में घर वालों से मिलने आई थी दोनों बहनें

सिरोही : सिरोही जिले में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां बुधवार सुबह एक शादीशुदा महिला और तीन ननदों ने जहर खा लिया। इसमें तीन महिलाओं की मौत हो गई वहीं उन तीन लड़कियों की भाभी अभी जिंदगी और मौत के बीच लड़ाई लड़ रही है। तीनों मृतकों के भाभी ज्योत्सना के शुरुआती इलाज के बाद गुजरात के पालनपुर में रेफर किया गया है।  मृतक तीन बहनों की पहचान पुष्पा,शकुंतला और ऊषा घांची के तौर पर हुई। तीनों  ने अस्पताल लाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया।

घरवालों के पता नहीं थी चारों के झगड़े की बात
पुलिस के अनुसार झाड़ोली गांव में कालूराम घांची के परिवार में एक बेटा गोपाल और तीन बेटियां  पुष्पा, शंकुतला और उषा थीं। तीन में से दो बहनें, पुष्पा और शकुंतला की शादी गांव के पास में ही  जनापुरा चौराहा इलाके में गोपाल के ससुराल पक्ष में ही हो रखी थी, जबकि 16 साल की उषा की शादी नहीं हुई थी। पुष्पा व शंकुतला कुछ दिन पहले ही ससुराल से अपने मायके झाड़ोली में परिवार से मिलने आई थी। गोपाल की पत्नी ज्योत्सना भी रिश्ते में पुष्पा व शकुंतला की की भाभी लगती थी। उनके बीच अक्सर घरेलू बात को लेकर अनबन होती रहती थी, जिसकी जानकारी घरवालों को नहीं थी

क्या है मामला
पालनपुर हॉस्पिटल में एडमिट ज्योत्सना ने मजिस्ट्रेट व पुलिस को  दिए बयान में बताया कि छोटी-मोटी बात को लेकर बुधवार सुबह उसका अपनी ननदों से विवाद हुआ था। इस दौरान आवेश में आकर ननद पुष्पा, शंकुतला और उषा ने सल्फॉस की गोलियां खा ली। यह देख वह घबरा गई और बाद में उसने भी सल्फाश की गोलियां खा ली। तीनों बहनें ने खाकर अपने खेत की ओर निकल गईं।

ज्योत्सना ने पति को किया फोन
अचानक हुए घटनाक्रम से घबराकर उनकी भाभी ने भी सल्फॉस की गोलियां खाकर अपने पति को फोन किया। कुछ देर बाद गोपाल घर लौटा तो बेहोशी की हालत में पत्नी  को हॉस्पिटल लेकर रवाना हुआ और पिता को फोन कर बताया कि तीनों बहनें भी घर पर नहीं है। इस पर कालुराम भी परिवार के लोगों के साथ घर की ओर रवाना हुआ तो रास्ते में नदी के पास तीनों बेटियों को बेहोशी की हालत में पड़ा देखा। इसके बाद तीनों को पिंडवाड़ा के अस्‍पताल ले जाया गया, जहां से उन्हें सिरोही रेफर किया गया। सिरोही में डॉक्टरों ने तीनों बहनों को मृत घोषित कर दिया, जबकि बेहोशी की हालत में ज्योत्सना को पालनपुर रेफर किया गया।

जांच में जुटी पुलिस
तीनों शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिए। बाद में एसपी ने झाड़ोली गांव पहुंच घटनास्थल का भी जायजा लिया। चूंकि मृतकाओं में दो बहनों की शादी को सात साल से कम समय हुआ था। ऐसे में पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर जांच एसडीएम को सौंपी है।

Comments are closed.