शीशराम ओला पर बीजेपी की टिप्पणी से सियासी बवाल, CM गहलोत बोले- जेपी नड्डा मांगें माफी

 जयपुर. पूर्व केन्द्रीय मंत्री और कद्दावर जाट नेता रहे स्व. शीशराम ओला (Sheeshram Ola) पर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया (Gaurav Bhatia) की टिप्पणी से सियासी बवाल मच गया है. कांग्रेस ने इस मामले को लेकर भाजपा पर चौतरफा हमला शुरू कर दिया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से लेकर राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला तक ने मामले में भाजपा से माफी मांगने की बात कही है. वहीं राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) ने भी भाजपा पर हमला बोलते हुए भाटिया से तत्काल माफी मांगने की मांग की है. गौरतलब है कि गौरव भाटिया  ने कल शीशराम ओला पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि 85 साल की उम्र में शीशराम ओला  को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया था. जिनका हिल गया था पुर्जा, उनमें मनमोहन सिंह ढूंढ रहे थ ऊर्जा. गौरव भाटिया की इस टिप्पणी के बाद सियासी माहौल गर्म है. जाट समाज से जुड़े लोगों ने आज इस मामले को लेकर भाजपा कार्यालय पर प्रदर्शन भी किया.


जेपी नड्डा माफी मांगें – गहलोत

गौरव भाटिया की इस टिप्पणी को लेकर आज सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट कर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से राजस्थान की जनता से माफी मांगने की मांग की. गहलोत ने ट्वीट पर लिखा कि स्व. शीशराम ओला ने 60 सालों से अधिक समय तक सामाजिक एवं राजनीतिक क्षेत्र में रहकर किसानों के हितों की रक्षा की. वे केन्द्र और राज्य दोनों सरकारों में अनेकों बार केबिनेट मंत्री रहे. 1968 में उन्हें समाज सेवा के लिए पद्मश्री सम्मान मिला. गहलोत ने कहा कि भाटिया द्वारा की गई टिप्पणियों की मैं भर्त्सना करता हूं. इससे प्रदेश की जनता में भारी आक्रोश पैदा हुआ है. उधर, राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने भी मामले में ट्वीट कर कहा कि शीशराम ओला आज इस दुनिया में नहीं हैं. उनका संदर्भ लेकर अमर्यादित शब्दों का प्रयोग गौरव भाटिया की मानसिकता के साथ भाजपा की सोच को भी दर्शा रहा है. वहीं परिहवन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने भी भाटिया के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि भाजपा प्रवक्ताओं को झूठ बोलने और भ्रमित करने की ट्रेनिंग दी जाती है.

रणदीप सुरजेवाला ने भी की माफी की मांग

उधर, कांग्रेस के महासचिव और राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी मामले में भाजपा पर हमला बोलते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया और नेता प्रतिपक्ष गुलाब चन्द कटारिया से माफी की मांग की है. सुरजेवाला ने आज ट्वीट कर कहा कि चौधरी शीशराम ओला देश के किसानों के कद्दावर नेता थे जिनका जमीनी संघर्ष और जुड़ाव आज भी राजस्थान की माटी में समाया है. मरणोपरांत उनके प्रति ऐसी घटिया भाषा का प्रयोग किसानों और राजस्थान के प्रति भाजपाई दुर्भावना को दिखाता है. जेपी नड्डा, सतीश पूनिया और गुलाब चन्द कटारिया माफी मांगें.

संकीर्ण मानसिकता झलक रही – बेनीवाल

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने भी ट्वीट कर गौरव भाटिया द्वारा की गई टिप्पणी की निन्दा की है. बेनीवाल ने कहा कि स्व. ओला ने आजीवन सामाजिक और राजनैतिक क्षेत्र में जो योगदान दिया उसको कभी भुलाया नहीं जा सकता. गौरव बल्लभ की टिप्पणी से उनकी संकीर्ण मानसिकता झलक रही है. बेनीवाल ने कहा कि टिप्पणी को लेकर जाट समाज के साथ ही सर्व समाज में रोष व्याप्त है. भाटिया को तत्काल माफी मांगनी चाहिए.