आकाश चोपड़ा ने इस युवा भारतीय को बताया दूसरे गृह का खिलाड़ी, कहा- 2021 इसी के नाम

 श्रीलंका के खिलाफ खेले गए पहले वनडे मैच में युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) ने जिस तरह की पारी खेली उसने सभी का दिल जीत लिया. बेशक दाएं हाथ का यह युवा बल्लेबाज 50 का आंकड़ा नहीं छू पाया हो लेकिन उनकी तूफानी पारी ने श्रीलंकाई गेंदबाजों के हौसले तोड़ दिए थे. शॉ ने महज 24 गेंदों पर 43 रनों की पारी खेली और इसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच भी चुना गया. इस पारी के बाद हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है. भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने तो उन्हें ‘दूसरे गृह का खिलाड़ी’ बता दिया है.

शॉ ने इस मैच से पहले भारत के लिए अपना आखिरी वनडे फरवरी 2020 में खेला था. वह टेस्ट में टीम का हिस्सा थे लेकिन ऑस्ट्रेलिया दौरे पर खराब फॉर्म के बाद उनको बाहर कर दिया गया था. इसके बाद शॉ ने विजय हजारे ट्रॉफी में 800 से ज्यादा रन और फिर आईपीएल-14 के स्थागित होने से पहले जो बल्लेबाजी की थी उसने उन्हें श्रीलंका दौरे पर टीम में जगह दिलाई. अपनी शानदार फॉर्म को शॉ ने पहले वनडे में जारी रखा और नौ चौके बरसाए.

शॉ ने किया राज

आकाश ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, “ऐसा लग रहा था कि माहौल श्रीलंका के पक्ष में होगा, लेकिन शॉ आए और उन्होंने अपना जलवा दिखाया और राज जमा लिया. वह अलग गृह के खिलाड़ी हैं. मैं शॉ का बहुत बड़ा फैन हूं क्योंकि आपको पूरे भारत में इस तरह के बल्लेबाज नहीं मिलते हैं.”

आकाश ने उम्मीद जताई है कि शॉ विजय हजारे ट्रॉफी वाली फॉर्म को श्रीलंका के खिलाफ वनडे और टी20 मैचों की सीरीज में भी जारी रखेंगे. दोनों टीमों के बीच अभी दो वनडे और तीन टी20 मैच और खेले जाने हैं.

शॉ को देख आई सहवाग की याद

शॉ की बल्लेबाजी देखने के बाद आकाश को अपने पूर्व साथी वीरेंद्र सहवाग की याद आ गई. उन्होंने कहा, “सहवाग, हुआ करते थे, लेकिन ये खिलाड़ी 24 गेंदों में 43 रन, और इस पारी को देखकर ऐसा लगा कि कोई पसीना नहीं बहाया गया, ज्यादा जोखिम नहीं लिया गया, गैप में शॉट्स खेले गए. क्या शानदार खिलाड़ी है. 2021 इस खिलाड़ी के नाम रहेगा, विजय हजारे ट्रॉफी से लेकर आईपीएल तक.”