जो पहले वनडे में नहीं हुआ वो दूसरे में होगा ! श्रीलंकाई खिलाड़ी ने खोला भारत के खिलाफ मोर्चा

 भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) ने श्रीलंका (Sri Lanka Cricket Team) को पहले वनडे में आसानी से हरा दिया. इस मैच में मेजबान टीम कहीं से कहीं तक भारत की बराबरी करती नहीं दिखी और हर मामले में पीछे ही रही. उसके बल्लेबाज अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल सके और इसलिए सपाट विकेट पर भी 262 रन ही बना सके. अब दोनों टीमों के बीच दूसरा वनडे मंगलवार को खेला जाना है और इस मैच से पहले श्रीलंकाई खिलाड़ी चामिका कुरणारत्ने (Chamika Karunaratne) ने कहा है कि उनके बल्लेबाज जो काम पहले वनडे में नहीं कर पाए थे वो दूसरे वनडे में करने की कोशिश करेंगे क्योंकि उनमें काबिलियत है.

श्रीलंका द्वारा रखे गए 263 रनों के लक्ष्य को भारत ने 36.4 ओवरों में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया था और तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली. इस मैच में भारतीय कप्तान शिखर धवन ने नाबाद 86 रनों का पारी खेली तो वहीं डेब्यू करने वाले युवा बल्लेबाज इशान किशन ने 59 रन बनाए. पृ्थ्वी शॉ ने 24 गेंदों पर 43 रन बनाए. उन्हें इस तूफानी पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया.

300 के पार जाने का काबिलियत

करुणारत्ने ने कहा कि उनकी टीम में 300-350 रन बनाने का काबिलियत है और वह दूसरे वनडे मैच में इस स्कोर को हासिल करने की कोशिश करेंगे. उन्होंने पहले वनडे के बाद वुर्चअल संवाददाता सम्मेलन में कहा, “हमारे कुछ बल्लेबाजों को अच्छी शुरुआत मिली लेकिन हम उसे जारी नहीं रख सके. हम बड़ी पारियां खेलने की कोशिश कर रहे थे. मैं जब दासुन शनाका के साथ बल्लेबाजी कर रहा था तो मैंने उनसे 42वें, 43वें ओवर में पूछा था कि क्या मैं बड़े शॉट्स खेलूं तो उन्होंने कहा था कि नहीं अभी 45वें ओवर तक इंतजार करो. अगर हमारे कुछ बल्लेबाज लंबी पारियां खेल जाते तो हम जल्दी आक्रमण कर सकते थे. हमारे पास 300-350 बनाने का काबिलियत है और उम्मीद है कि अगले मैच में ऐसा होगा.”

हम जानते थे भारत आक्रमण करेगा

करुणारत्ने ने कहा कि उनकी टीम जानती थी कि भारत बेहतरीन टीम है और वो आक्रमण करेगी. उन्होंने कहा, “हमने खाली गेंद निकालने की जगह विकेट लेने का प्रयास किया. हमने अपनी बाउंसर और तेजी का इस्तेमाल करने की कोशिश की. भारत शीर्ष टीम है और हम जानते थे कि वह आक्रमण करेंगे. अगर हम विकेट लेने में सफल होते तो शायद हम उन्हें दबाव में ला सकते थे.”