हरियाणा में मौसम: 21 जुलाई तक बारिश होने की संभावना, कई शहरों में ऑरेंज अलर्ट

 चंडीगढ़. हरियाणा में पिछले दो दिनों से हो रही बारिश से कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात (flood like situation) पैदा हो गए हैं. इस बीच मौसम विभाग (weather department) के पूर्वानुमान को देखते हुए प्रदेश के आपदा प्रबंधन अमले को अलर्ट मोड पर रखा गया है. अगले 48 घंटों में मूसलाधार बारिश पूर्वानुमान जताया गया है. प्रदेश के कई शहरों में ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया गया है. हालांकि, फसलों के लिए यह बारिश वरदान साबित होगी, लेकिन जलभराव से लोगों को परेशानी भी होगी.


मौसम विभाग की मानें तो मानसून टर्फ उत्तर की तरफ आने, बंगाल की तरफ से नमी वाली पुरवाई हवा तथा अरब सागर पर बने कम दबाव का क्षेत्र से दक्षिण पाश्चिमी मानसून 18 जुलाई से हरियाणा राज्य में सक्रिय हुआ था. इससे राज्य के उत्तर और दक्षिण पूर्व के क्षेत्रों में ज्यादातर स्थानों पर लगातार बारिश हो रही है. इससे हरियाणा राज्य में बारिश की कमी (जो 17 जुलाई तक 20 फीसद थी) अब घटकर 3 फीसद रह गई है.


सोनीपत में सबसे ज्यादा बारिश
कृषि विभाग के अनुसार हरियाणा में सबसे अधिक सोनीपत में सर्वाधिक 614 एमएम बारिश हुई है. वहीं, बहादुरगढ़ में 15 घंटे के अंतराल में 253 मिली मीटर बारिश दर्ज की गई है. मौसम विज्ञानियों की मानें तो यह बहादुरगढ़ और सोनीपत में अतितीव्र बारिश की स्थिति देखने को मिली है.

21 तक बारिश के आसार
भारत मौसम विज्ञान विभाग के आंकड़ों के अनुसार 1 जून से 19 जुलाई तक हरियाणा में 136.3 मिलीमीटर बारीश दर्ज हुई है जो सामान्य बारिश (140.8 मिलीमीटर) से केवल 3 फीसद कम है. हरियाणा में 21 जुलाई तक ज्यादातर क्षेत्रों में हवा व गरज चमक के साथ बारिश होने की संभावना है. इस दौरान कुछ एक स्थानों पर तेज बारिश होने की भी संभावना है.