UP: माफिया अतीक अहमद पर मर्डर के दो मामलों में आरोप तय, कोर्ट ने गैंगस्टर की ट्रायल की मांग की स्वीकार

 यूपी के माफियाओं पर पुलिस (UP Police) का शिकंजा लागतार जारी है. माफिया अतीक अहमद (Atiq Ahmad) पर हत्या के दो मामलों में आरोप तय हो गए है. अतीक अहमद फिलहाल गुजरात की जेल में बंद है. एमपी-एमएलए कोर्ट के जज आलोक कुमार श्रीवास्तव ने माफिया पर हत्या के आरोप तय (Charges Framed) किए. वहीं आरोप तय होने के बाद अतीक अहमद ने कोर्ट से ट्रायल की मांग की है. कोर्ट ने ट्रायल की मांग को मान लिया है.

माफिया अतीक अहमद पर हत्या का पहला मामला (Murder Case) 25 सितंबर 2015 का है. उस दौरान अलकमा नाम की लड़की और उसके ड्राइवर सुजीत की हत्या कर दी गई थी. यह घटना रात को 8.30 बजे हुई थी. हत्या के समय वह अपने चाचा आबिद प्रधान की गाड़ी में मौजूद थी. हमलावरों ने दोनों को कई गोलियां मारी थीं. इस मामले में आबिद प्रधान ने 7 लोगों को नामजद बनाया था.

अतीक अहमद के खिलाफ आरोप तय

सरकार बदलने के बाद इस मामले की अग्रिम विवेचना शुरू की गई. जिसके बाद पुलिस ने अतीक अहमद समेत दूसरे अपराधियों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था. वहीं पहले नामजद किए गए सभी आरोपियों को क्लीन चिट दे दी गई. वहीं दूसरा ममाला 11 जुलाई 2016 का है. किसी जमीनी विवाद में जितेंद्र नाम के शख्स की हत्या कर दी गई थी. इस ममाले में अतीक अहमद पर साजिश रचने का आरोप है. वहीं मृतक जितेंद्र की मां ने कई लोगों को नामजद किया था.

अतीक अहमद पर हत्या समेत कई केस दर्ज

जांच के बाद धूमनगंज पुलिस ने नामजद किए गए आरोपियों को क्लीन चिट देते हुए अतीक अहमद समेत कई और लोगों को साजिश रचने का आरोपी बनाया था. अब दोनों मामलों में अतीक अहमद पर आरोप तय हो गए हैं. यूपी सरकार लगातार माफियाओं पर शिकंजा कस रही है. मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद समेत कई गैगस्टर्स के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है. मुख्तार अंसारी की तरह ही अतीक अहमद पर भी हत्या और किडनैपिंग जैसे कई मामले दर्ज हैं. वहीं इससे पहले उसकी अवैध संपत्ति पर भी पुलिस ने शिकंजा कसा था.