Rain Alert: उत्तराखंड में रेड अलर्ट, अगले 72 घंटों में हो सकती है बेहद भारी बारिश

 देहरादून/शिमला. उत्तराखंड के उत्तरकाशी और टिहरी ​गढ़वाल में भारी बारिश का कहर टूटने के बाद खबर यह है कि राज्य के 13 ज़िलों में से अधिकांश हिस्सों में बहुत भारी बारिश के आसार के चलते रेड अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विभाग ने 22 जुलाई तक के लिए यह अलर्ट जारी किया है. हालांकि इससे पहले राज्य आपदा रिस्पॉंस फोर्स यानी एसडीआरएफ ने इसी तरह का अलर्ट जारी करते हुए 21 जुलाई तक पूरे प्रदेश में बहुत भारी बारिश की चेतावनी दी थी.


भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने उत्तराखंड ही नहीं, जम्मू कश्मीर, हिामचल प्रदेश, असम, मेघालय, मिज़ोरम और त्रिपुरा जैसे राज्यों में आगामी गुरुवार तक बहुत भारी बारिश की आशंका जताई है. इधर, खबरों की मानें तो उत्तराखंड के कुछ ज़िलों में बादल फटने या मूसलाधार बारिश से बनी आपदा स्थिति के लिए एसडीआरएफ ने करीब 28 टीमों को स्टैंडबाय मोड पर रखा है ताकि किसी भी इमरजेंसी में उनकी मदद ली जा सके.


और कहां हैं भारी बारिश के आसार?
मौसम विभाग ने दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तर पश्चिम मध्य प्रदेश, उत्तर पूर्वी राजस्थान, उत्तरी कोंकण के साथ ही बिहार और पश्चिम बंगाल के कुछ इलाकों को हेवी रेन के संबंध में सतर्क किया है. उधर, हिमाचल प्रदेश में कई जगहों पर मूसलाधार बारिश की चेतावनी है. राजधानी शिमला में रविवार से ही रह रहकर बारिश का दौर जारी रहा. हिमाचल के कांगड़ा, बिलासपुर, सिरमौर और मंडी ज़िलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है. बाकी 8 ज़िलों के लिए मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है.

कितनी हो चुकी है तबाही?
हाल में, हिमाचल में वर्षाजनित दुर्घटनाओं के समाचार बने रहे. भूस्खलन के हादसे में एक महिला की जान गई जबकि कार भूस्खलन के चलते खाई में​ गिरने से उसके पति और बेटे की कोई खबर नहीं मिली. वहीं, उत्तराखंड के उत्तरकाशी ज़िले में बादल फटने के चलते तीन लोगों की मौत सुर्खियों में रही. चार अन्य के लापता होने की भी खबर थी. दूसरी तरफ, सोमवार सुबह तक प्रदेश भर में बारिश से बंद तकरीबन 65 सड़कें खोली जा चुकी थीं. अभी भी करीब 200 सड़कें प्रभावित हैं.