खुशखबरी: अब डेयरी फार्म खोलकर करें लाखों में कमाई! सरकार ने शुरू की नई सुविधा, आपको मिलेगा बड़ा फायदा

 नई दिल्ली. अगर आप अपना कारोबार करना शुरू करना (Start Own Business) चाहते हैं तो आप डेयरी फार्म का बिजनेस (Start Dairy Farm Business) कर सकते हैं. आपको बता दें कि भारत सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक (India is the largest milk producer country) देश है. ऐसे में यह आपके लिए बेहद मुनाफे वाले कारोबार साबित (Earn Money) हो सकता है. अब इस कारोबार में सरकार भी आपकी मदद करेगी. दरअसल, सरकार की ओर से कहा गया है कि मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय के तहत निवेशकों के लिए एक सम्पर्क सुविधा के रूप में काम करने के लिए एक ‘डेयरी निवेश त्वरक’ स्थापित (Dairy Investment Accelerator)किया गया है. यह डेयरी क्षेत्र में निवेश को बढ़ावा देने और सुगम बनाने (Indian Dairy sector) पर केंद्रित पहल है.


जानें क्या है सरकार की योजना?
सरकार ने एक बयान में कहा कि डेयरी निवेश त्वरक मंत्रालय के निवेश सुविधा प्रकोष्ठ का हिस्सा होगा. इसमें कहा गया है कि यह निवेशकों के साथ इंटरफेस के रूप में काम करने के लिए अलग-अलग प्रकार के कार्यों में लगे लोगों की टीम है. यह निवेश के अवसरों के मूल्यांकन के लिए विशिष्ट जानकारियों की पेशकश, सरकारी योजनाओं के लिए आवेदन के बारे में प्रश्नों को संबोधित करने, राज्य के विभागों और संबंधित अधिकारियों के साथ जमीनी सहायता प्रदान करने के अलावा रणनीतिक भागीदारों के साथ जुड़ने जैसे निवेश चक्र में सहायता प्रदान करेगा.


15,000 करोड़ की सरकार की प्रमुख योजना
यह पशुपालन क्षेत्र में बुनियादी सुविधाओं के विकास को प्रोत्साहित करने वाली 15,000 करोड़ रुपये की सरकार की प्रमुख योजना- एनिमल हसबेंडरी इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट फंड (एएचआईडीएफ) के बारे में निवेशकों के बीच जागरूकता पैदा करेगा. उद्यमियों, निजी कंपनियों, एमएसएमई, किसान उत्पादक संगठनों (FPO) और धारा 8 कंपनियों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए फंड की स्थापना की गई है. पात्र संस्थाएं डेयरी प्रसंस्करण और संबंधित मूल्यवर्धन बुनियादी ढांचे, मांस प्रसंस्करण और पशु चारा संयंत्र के क्षेत्रों में नई इकाइयां स्थापित करने या मौजूदा इकाइयों का विस्तार करने के लिए योजना का लाभ उठा सकती हैं.

 



भारत सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक देश
भारत सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक देश है जो वैश्विक दूध उत्पादन में 23 प्रतिशत का योगदान देता है. सरकार ने कहा कि डेयरी अपने सामाजिक-आर्थिक महत्व के कारण एक उच्च प्राथमिकता वाला क्षेत्र है. यह राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में 5 प्रतिशत का योगदान देने के साथ आठ करोड़ से अधिक किसानों को सीधे रोजगार देता है. सरकार ने यह भी कहा कि भारतीय खाद्य क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) का लगभग 40 प्रतिशत हिस्सा डेयरी क्षेत्र में देखा गया है.

अधिक जानकारी के लिए आप यहां देख सकते हैं..  dairy-accelerator@lsmgr.nic.in.