कम खर्च में ज्यादा कमाई कराने वाली स्कीम में अभी भी लगा सकते हैं पैसा, जानिए इसके बारे में सबकुछ

 सचिन बंसल के प्रौद्योगिकी-संचालित बीएफएसआई समूह नवी की इकाई नवी म्यूचुअल फंड, जिसका एनएफओ 3 जुलाई 2021 से 12 जुलाई 2021 तक खुला था ने 17,000 निवेशकों से 100 करोड़ रुपये से अधिक जमा जुटाया है. फंड अब सभी ऑनलाइन निवेश चैनलों या वित्तीय सलाहकारों के माध्यम से निवेश के लिए खुला है. ऑनलाइन चैनल में ग्रो, कॉइन बाय ज़ेरोधा, पेटीएम मनी, आईएनडी मनी समेत अन्य प्लेटफॉर्म शामिल हैं. एक्सपेंस रेशियो 0.06% है जो पैसिव फंड कैटेगरी/इक्विटी मार्केट में वतर्मान में सबसे कम है.  मान लीजिए आपने निवेश के लिए कोई म्यूचुअल फंड चुना है, जिसका एक्सपेंस रेश्यो 1.8 फीसदी है. वहीं, आपने इसमें 20 हजार रुपये का निवेश किया है. इसका मतलब हुआ कि इस फंड के मैनेजमेंट के लिए आपको सालाना 360 रुपये चुकाने होंगे. इसी तरह से अगर इस फंड ने कुल 14 फीसदी रिटर्न दिया तो आपको 12.2 फीसदी रिटर्न असल में मिलेगा.

इसी के विपरीत अगर इसका एक्सपेंस रेश्यो 2.6 फीसदी होता तो आपको इसके मैनेजमेंट के लिए 520 रुपये सालाना फीस देनी होती और रिटर्न भी 11.4 फीसदी ही मिलता. सीधा है कि एक्सपेंस रेश्यो जितना ज्यादा होगा, आपका खर्च उतना ही ज्यादा बढ़ेगा. एक्सपर्ट्स कहते हैं कि यहां यह बात ध्यान देने की होती है कि कम या ज्यादा एक्सपेंस रेश्यो से रिटर्न की गारंटी नहीं तय होती है. कई बार ज्यादा एक्सपेंस रेश्यो वाले फंड कम एक्सपेंस रेश्यो वाले फंड के मुकाबले ज्यादा रिटर्न देते हैं.

बेहद कम है एक्सपेंस रेशियो

नवी निफ्टी 50 इंडेक्स फंड एक ओपन-एंडेड इक्विटी स्कीम है जो निफ्टी 50 इंडेक्स की ट्रैकिंग करती है. एक्सपेंस रेशियो 0.06% है जो पैसिव फंड कैटेगरी/इक्विटी मार्केट में वतर्मान में सबसे कम है.  एनएफओ 10 दिनों के लिए खुला था जिससे 100 करोड़ रुपये से अधिक का एयूएम जमा हुआ. पिछले कुछ वर्षों में निफ्टी 50 इंडेक्स फंड एनएफओ में उच्चतम एयूएम है. फंड अब सब्सक्रिप्शन के लिए खुल गया है – न्यूनतम निवेश राशि 500 रुपये और उसके बाद 1 रुपये के गुणकों में होगी.

डायरेक्ट प्लान के लिए फंड द्वारा 0.06% एक्सपेंस रेशियो अब तक इंडेक्स योजनाओं की श्रेणी में सबसे कम है. इसने निवेशकों के बीच महत्वपूर्ण आकर्षण प्राप्त किया है क्योंकि वे लंबी अवधि में उनके द्वारा की गई पर्याप्त बचत पर होने वाले लाभ को लेकर परिचित हैं.

एएमएफआई की जून की रिपोर्ट के अनुसार, पहले से ही एनएफओ के दौरान कुल पैसिव फंड फोलियो 13.5 लाख हैं और नवी ने इस फोलियो आधार का 17,000 या लगभग 1.3% प्राप्त किया है.

दिलचस्प बात यह है कि एनएफओ की अवधि आम तौर पर 15 दिनों से अधिक होती है जबकि नवी निफ्टी 50 इंडेक्स फंड एनएफओ ने 10 दिनों की छोटी सी अवधि में 100 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया.

क्या होता है एक्सपेंस रेश्यो?

म्यूचुअल फंड के प्रबंधन पर जो खर्च आता है, इसी खर्च का अनुपात एक्सपेंस रेश्यो कहलाता है. फंड को मैनेज करने के लिए फंड हाउसेज के तमाम खर्च होते हैं.

फंड हाउस में प्रोफेशनल्स की टीम होती है जो मार्केट पर नजर रखती है. इसमें ट्रांसफर और रजिस्ट्रार से संबंधित खर्च भी शामिल होते हैं. एक्सपेंस रेश्यो एक सालाना फीस होती है.

यह प्रति यूनिट आने वाले खर्च को दिखाता है. एक्सपेंस रेश्यो फंड हाउस द्वारा ली जा रही एक सालाना फीस होती है. इसलिए फंड में निवेश के वक्त एक्सपेंस रेश्यो देखें.

एनएफओ में एयूएम 100 करोड़ रुपये पार करने की उपलब्धि हासिल करनेपर टिप्पणी करते हुए सौरभ जैन, एमडी और सीईओ, नवी एएमसी लिमिटेड ने कहा, इस लॉन्च की सफलता न केवल इस एनएफओ के एयूएम से है, बल्कि इंडेक्स फंड निवेश और एक्सपेंस रेशियो को लेकर निवेशकों में फैली जागरूकता के माध्यम से भी है. यह इन 10 दिनों के दौरान हमारी वेबसाइट पर आने वाले 1.4 लाख उपयोगकर्ताओं के माध्यम से भी दिखाई देता है. यह धन सृजन के लिए हमारे निवेशकों के साथ लंबी अवधि की साझेदारी की शुरुआत है और हमें इस इंडेक्स फंड एनएफओ के लिए मिली प्रतिक्रिया से प्रसन्नता हो रही है.