टीम इंडिया के गेंदबाजों ने फिर कटाई नाक, जिम्बाब्वे-बांग्लादेश से भी गई-गुजरी हुई बॉलिंग, डरा देंगे आंकड़े

 भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) इस समय दुनिया की टॉप की टीमों में शामिल हैं. पिछले कुछ सालों में उसने लगातार कमाल का खेल दिखाया है. नतीजा है कि वह हर बार जीत की दावेदार होती है. फिर चाहे टेस्ट हो या टी20. साल 2011 के बाद से अभी तक वह आईसीसी के सभी टूर्नामेंट में कम से कम सेमीफाइनल तक जरूर पहुंची है. लेकिन भारतीय टीम की एक कमजोरी ऐसी है जो लगातार उसे परेशान किए जा रही है. वनडे में तो यह बीमारी सबसे बड़ी समस्या है. यह दिक्कत पावरप्ले ओवर्स में विकेट नहीं निकाल पाने से जुड़ी है. भारतीय टीम 2019 क्रिकेट वर्ल्ड के बाद से लेकर अभी तक वनडे में पहले 10 ओवर में विकेट नहीं निकाल पा रही है. श्रीलंका दौरे पर भी यह कमजोरी दिखी है. यहां पर पहले वनडे में भारत के खिलाफ ओपनिंग में 49 रन की पार्टनरशिप हुई तो दूसरे वनडे में 77 रन की.

इसके चलते वनडे क्रिकेट खेलने वाली टीमों में उसकी औसत और स्ट्राइक रेट सबसे घटिया है. पहले 10 ओवर में विकेट निकालने के मामले में टीम इंडिया जिम्बाब्वे, बांग्लादेश और अफगानिस्तान जैसी टीमों से भी पीछे है. 2019 क्रिकेट वर्ल्ड कप के बाद से भारत ने अभी तक 20 वनडे खेले हैं और पहले 10 ओवर में केवल नौ विकेट लिए हैं. इस दौरान उनकी विकेट लेने की औसत 132.5 की रही है जबकि स्ट्राइक रेट 120 से ऊपर का है. इसका मतलब है कि भारत को पावरप्ले के 10 ओवर में कम से कम 132 रन खर्च करने और 120 गेंद फेंकने के बाद एक विकेट मिला है.

इकनॉमी में भी भारत की हालत खराब

साथ ही भारत ने पहले पावरप्ले में करीब छह की इकनॉमी से रन दिए हैं. यानी उसके खिलाफ पिछले 20 वनडे मुकाबलों में औसतन 60 के आसपास रन बने हैं. यह हाल तो तब है जब जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, दीपक चाहर जैसे गेंदबाजों ने भारत के लिए पहले 10 ओवरों में बॉलिंग की है. वर्ल्ड कप 2023 से पहले भारत को इस समस्या को दूर करना होगा नहीं तो घरेलू जमीन पर होने वाले इस टूर्नामेंट में उसकी जीत की दावेदारी खटाई में पड़ सकती है.

पिछले 18 में से सात मैच में शतकीय ओपनिंग साझेदारी हुई

अब अगर भारत के खिलाफ पिछले 18 वनडे में पहले विकेट के लिए विरोधी टीम की साझेदारियों पर नज़र डालें तो मामला काफी चिंताजनक दिखता है. पिछले 18 वनडे में से सात मैच में भारत के खिलाफ पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारियां हुई हैं. वहीं पांच मैच में अर्धशतकीय ओपनिंग साझेदारी हुई है. पांच बार भारत के गेंदबाजों ने विरोधी टीम की सलामी जोड़ी को 25 रन से पहले तोड़ा है. भारत के खिलाफ वनडे में पिछले कुछ मैचों में ओपनिंग साझदारी इस तरह रही है- 14, 110, 135, 25, 142, 156, 106, 93, 85, 18, 20, 258*, 57, 61, 11, 115, 49, 77.