IND vs SL सीरीज के बीच श्रीलंकाई क्रिकेटर हुए कंगाल! लोन चुकाने के पैसे भी नहीं, शादियां तक टाल रहे खिलाड़ी

 हालिया समय में श्रीलंका क्रिकेट (Sri Lanka Cricket) लगातार गलत वजहों से सुर्खियों में हैं. टीम का खेल भी काफी खराब रहा है. साथ ही बोर्ड और खिलाड़ियों के बीच कॉन्ट्रेक्ट को लेकर हुई तकरार ने श्रीलंका क्रिकेट का नाम काफी खराब किया. इस मामले में काफी बवाल हुआ और खिलाड़ियों ने संन्यास लेने तक की धमकी दे दी थी. ऐसे में श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड को हरेक दौरे के हिसाब से कॉन्ट्रेक्ट देने की बात कहनी पड़ी थी. भारत के खिलाफ सीरीज से पहले भी यह मामला उछला था. खिलाड़ियों ने कॉन्ट्रेक्ट साइन करने से मना कर दिया था. लेकिन किसी तरह उन्हें भारत के खिलाफ सीरीज के लिए मनाया गया क्योंकि इससे श्रीलंकाई बोर्ड को काफी कमाई होगी. लेकिन कॉन्ट्रेक्ट विवाद अभी तक पूरी तरह सुलझा नहीं है. इस वजह से खिलाड़ी आर्थिक संकट में फंस गए हैं. खबर है कि कई खिलाड़ी पैसों की तंगी से जूझ रहे हैं और उनके पास लोन और इंश्योरेंस के पैसे भी नहीं हैं.

संडे मॉर्निंग अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, खिलाड़ियों ने श्रीलंका क्रिकेट को इस बारे में जानकारी दी है. उन्होंने अपना पुराना बकाया चुकाने और कॉन्ट्रेक्ट का मान रखने की मांग की है. इस बारे में बोर्ड को चिट्ठी भेजी गई है. इसमें कहा गया है, नए कॉन्ट्रेक्ट के चलते हमें जनवरी 2021 के बाद से एक पैसा नहीं मिला है. खिलाड़ियों को नए कॉन्ट्रेक्ट के बारे में कुछ स्पष्ट नहीं है. उन्हें लिखित में इस बारे में बताया जाना चाहिए था. नए कॉन्ट्रेक्ट में खिलाड़ियों की सैलेरी में 30 प्रतिशत की कटौती की गई है. इस मामले से जुड़े लोगों का कहना है कि बोर्ड और सीनियर खिलाड़ियों के बीच कॉन्ट्रेक्ट को लेकर चल रही तनातनी की वजह से जूनियर खिलाड़ियों पर आफत आ गई है.

कई खिलाड़ियों की शादियां टलीं

एक सूत्र के हवाले से रिपोर्ट में लिखा गया है, ‘सालाना कॉन्ट्रेक्ट नहीं होने से खिलाड़ियों पर बुरा असर पड़ा है. उनके लिए होम लोन की किश्तें चुकाना और परिवार वालों के इंश्योरेंस के पैसे देना भी मुश्किल हो रहा है. बहुत से खिलाड़ियों की तो शादियां तक टल गई हैं. जूनियर खिलाड़ी इस मामले में फंस गए हैं. ऐसा माना जा रहा है कि बिना कॉन्ट्रेक्ट के उनके करियर डूब जाएंगे क्योंकि उन्हें वर्तमान सीरीज के लिए चुना ही नहीं गया.’ रिपोर्ट में साथ ही कहा गया है कि खिलाड़ियों ने 1 जनवरी 2021 से सालाना कॉन्ट्रेक्ट लागू करने की विनती की है. जूनियर खिलाड़ी उम्मीद कर रहे हैं कि वे इस विवाद से जल्द ही निकल जाएंगे और उन्हें उनकी सैलरी मिल जाएगी.