Weather Update: महाराष्ट्र के कई जिलों में अगले दो दिनों के लिए अलर्ट जारी, दिल्ली में भी आज बरस सकते हैं बादल

 नई दिल्ली. महाराष्ट्र (Maharashtra) में बारिश के शांत होने के कोई आसार नहीं है. मौसम विभाग ने जानकारी दी है कि बुधवार को मध्य महाराष्ट्र के घाट इलाकों में भारी से अति भारी बारिश हो सकती है. खबर है कि मुंबई (Mumbai) में अगर बारिश इस महीने के अंत तक जारी रहती है, तो यह इतिहास की सबसे नम जुलाई होगी. इसके अलावा राजधानी में भी आज मध्य बारिश होने की संभावना है. मंगलवार शाम को मौसम विभाग ने भारी बारिश के संकेत देते हुए रायगढ़, रत्नागिरी, पुणे, कोल्हापुर और सतारा में रेड अलर्ट जारी किया है.


मौसम विभाग की तरफ से मंगलवार शाम दी गई जानकारी के अनुसार, अगले 24 घंटों के बाद उत्तर-पश्चिम भारत में बारिश कम हो सकती है. इसके अलावा दिल्ली में आज बादल बरस सकते हैं. 20 जुलाई से 23 जुलाई के बीच कोंकण और गोवा और इनसे सटे मध्य महाराष्ट्र के घाट इलाकों में अति भारी बारिश होने की संभावना है. वहीं, दक्षिण गुजरात में 23 जुलाई तक भारी बारिश हो सकती है. इसके बाद 24 जुलाई को यह बढ़कर अति भारी बारिश का रूप ले सकती है.


महाराष्ट्र के कई जिलों में अलर्ट
भाषा के अनुसार, मौसम विभाग ने मुंबई के लिए बुधवार और शुक्रवार के बीच ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया है जिसके अनुसार भारी से बेहद भारी बारिश हो सकती है. आईएमडी के मुंबई केंद्र के अनुसार, पुणे, रायगढ़, रत्नगिरि कोल्हापुर और सतारा में बेहद भारी बारिश होने की आशंका प्रबल है. इन जिलों में बुधवार और गुरुवार के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है. विभाग के अनुसार, राज्य के मराठवाड़ा और विदर्भ क्षेत्रों में शुक्रवार तक हल्की बारिश हो सकती है.

उत्तर प्रदेश, बिहार, उत्तर मध्य प्रदेश और पूर्वी राजस्थान में गरज और बिजली चमकने की संभावना है. ओडिशा और आंध्र प्रदेश और यानम के तटीय इलाकों में भारी से अति भारी बारिश हो सकती है. इसके अलावा हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और सिक्किम, अंडमान एंड निकोबार आईलैंड्स, गुजरात क्षेत्र, तेलंगाना, कर्नाटक के दक्षिण आंतरिक और तटीय हिस्सों और केरल और माहे में भारी बारिश के आसार हैं.

मौसम विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार को जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और सिक्किम, अंडमान और निकोबार आईलैंड्स, असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा, रायलसीमा, तेलंगाना और तमिलनाडु, पुडुचेरी और करईकल में गरज के साथ बिजली चमक सकती है.