The Hundred के नियम हैं सबसे अलग, डीजे स्‍टैंड पर होगा टॉस

 नई दिल्‍ली. इंग्‍लैंड क्रिकेट बोर्ड की द हंड्रेड लीग के पहले सीजन का आज आगाज होगा. द हंड्रेड वीमंस लीग का पहला मुकाबला ओवल इनविन्सिबल और मैनचेस्‍टर ओरिजनल के बीच खेला जाएगा. जबकि पुरुष लीग का आगाज 22 जुलाई से होगा. द हंड्रेड लीग का इंतजार पूरी दुनिया ही काफी लंबे समय से कर रही थी, मगर कोरोना के कारण इसे पिछले साल टाल दिया गया था. दरअसल यह लीग अपने सबसे अलग हटकर नियमों को लेकर काफी चर्चा में हैं. इसमें मैच की एक पारी सिर्फ 100 गेंदों की ही होगी. लीग में 8 महिला टीम और 8 पुरुष टीम हिस्‍सा ले रही है.

टूर्नामेंट में एक ओवर छह गेंदों का नहीं बल्कि 5 गेंदों का होगा और गेंदबाज लगातार दो ओवर भी एक साथ डाल सकता है. अंपायर सफेद कार्ड के जरिए इशारा करेगा कि गेंदबाज ने 5 गेंदें डाल दी है और अब अगले ओवर की अगली पांच गेंदें फेंकी जाएगी. हालांकि गेंदबाज को इसके लिए कप्‍तान से मंजूरी भी लेनी होगी.
एक गेंदबाज सिर्फ चार ओवर डाल सकता है. वह चार बार में पांच पांच गेंद या फिर दो बार में 10 10 गेंदें फेंके सकता है. एक मैच की दोनों पारियों में अलग अलग सफेद कूकाबूरा गेंदों का इस्‍तेताल किया जाएगा.
इस लीग में पावरप्‍ले 25 गेंदों का यानी 5 ओवर का होगा. इस दौरान सिर्फ दो खिलाड़ी भी 20 गज के घेरे से बाहर रहेंगे.
फील्डिंग कर रही टीम को 2 मिनट का स्‍ट्रेटजिक टाइमआउट लेने की भी इजाजत होगी. इसे कभी भी लिया जा सकेगा. नो बॉल होने पर एक रन की बजाय दो रन मिलेंगे. यहीं नहीं मैच का टॉस डीजे स्‍टैंड पर होगा.
कैच आउट होने के दौरान क्रीज बदलने पर भी पुराना बल्लेबाज स्ट्राइक नहीं ले सकेगा. स्ट्राइक पर नया बल्लेबाज ही आएगा.
इस लीग में स्लो ओवर रेट की समस्या को खत्म करने के लिए एक ऐसा नियम लाया गया है जिसपर काफी ज्यादा चर्चा हो रही है. प्लेइंग कंडिशन के मुताबिक अगर टीमों का ओवर रेट धीमा रहा तो जुर्माने के तौर पर टीम को अपना एक अतिरिक्त खिलाड़ी 30 गज के घेरे के अंदर खड़ा करना होगा. अगर ऐसा हुआ तो बल्लेबाजी करने वाली टीम इसका काफी ज्यादा फायदा उठाएगी. एक अतिरिक्त खिलाड़ी 30 गज के अंदर होने से बल्लेबाज ज्यादा जोखिम ले पाएंगे और टीम बड़े स्कोर तक पहुंचेगी.
ग्रुप स्टेज में मैच टाई होने पर दोनों टीमों में एक-एक अंक बटेंगे. एलिमिनेटर और फाइनल मैच में पांच गेंदों का मुकाबला होगा. अगर ‘सुपर फाइव’ टाई हुआ तो एक और बार 5-5 गेंदों का मुकाबला होगा. ये मुकाबला भी टाई रहा तो ग्रुप स्टेज में टॉप पर रहने वाली टीम को विजेता घोषित किया जाएगा.